खेल और योग को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए: AICS

0
60
106 Views

अखिल भारतीय खेल परिषद (एआईसीएस) की 13वीं बैठक नई दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम परिसर में आयोजित की गई। इस दौरान एआईसीएस के अध्यक्ष प्रो. विजय कुमार मल्होत्रा ने जोर देकर कहा कि खेल और योग को पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए और नर्सरी स्तर से बच्चे को खेल विषय पढ़ाया जाना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि प्राथमिक विद्यालय से ही बच्चों की प्रतिभा और खेल योग्यता का परीक्षण किया जाना चाहिए ताकि प्रशक्षिण और शिक्षा के माध्यम से बच्चे की प्रतिभा को निखारा और विकसित किया जा सके। प्रो. मल्होत्रा ने डोप के खतरे का मुकाबला करने के लिए मजबूत तंत्र शुरू करने की आवश्यकता पर बल दिया। 

उन्होंने कहा , “डोप की घटनाओं से न केवल भारतीय खेलों की छवि खराब होती है बल्कि खेल जगत में देश की छवि भी खराब होती है।” स्कूल के बजट में खेल और योग के लिए अनिवार्य प्रावधान होना चाहिए, जिसका उपयोग केवल खेल गतिविधियों के लिए किया जाना चाहिए। वहीं एआईसीएस सदस्य और पैरालम्पिक कमेटी ऑफ इंडिया प्रमुख डॉ. दीपा मलिक ने कहा कि पैरा स्पोर्ट्स को भी खेलो इंडिया में शामिल किया जाना चाहिए और इसको भी स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here