अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) के कोर्स का दादर में नये केंद्र का उद्घाटन

0
31
जेटकिंग इंफोट्रेन
70 Views

टेक, शिक्षा और कौशल के विलय के साथ, जेटकिंग इंफोट्रेनने विद्यार्थियोंके लिए बेहतरीन नौकरियों की संधी लाया है|

मुंबई, 3 सितंबर 2022, आईडीसी सेल्सफोर्स इकोनॉमी 2021 के अध्ययन के अनुसार, 2021 में डिजिटल कौशल की आवश्यकता वाली नौकरियों की प्रमुख क्षेत्र में 27% से बढ़कर 2026 तक 37% हो जाएगी। रिक्रूटर्स एक व्यापक कौशल सेट की तलाश करेंगे और बड़े पैमाने पर ब्लॉक चेन द्वारा संचालित होंगे। डेटा एनालिटिक्स, क्लाउड कंप्यूटिंग, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आदि।
इस जरूरत को ध्यान में रखते हुए, जेटकिंग इंफोट्रेन लिमिटेड ने मुंबई में अपना 6 वा जेटकिंग दादर लर्निंग सेंटर शुरू किया है। यह केंद्र एनएसडीसी प्रमाणित पाठ्यक्रम जैसे क्लाउड कंप्यूटिंग और साइबर सुरक्षा, मास्टर इन ब्लॉकचैन डेवलोपमेन्ट में (टेक्नीकल और नॉन-टेक्नीकल ग्रेजुएट, डेवलोपमेन्ट और कई अन्य प्रमाणन पाठ्यक्रम जैसे एथिकल हैकिंग, ऐमज़ॉन सेवाएं, माइक्रोसॉफ्ट एज़्योर) समाविष्ट होंगे।

जेटकिंग के नए केंद्र का उद्घाटन महाराष्ट्र विधान सभा के सदस्य आशीष शेलार ने किया। इस अतिरिक्त केंद्र के साथ, जेटकिंग के पास अब भारत और विदेशों में 100+ शाखाओं का कुल नेटवर्क है। यह लॉन्च युवाओं को डिजिटल कौशल से मजबूत करने और उन्हें भविष्य के लिए तैयार करने की संस्था का उद्दिष्ट है।

इस अवसर बात करते हुए जेटकिंग के सीईओ और एमडी श्री हर्ष भारवानी ने कहा, कि उन्होंने दादर में जेटकिंग का अपना छठा केंद्र खोला है, दादर मुंबई के प्रमुख स्थानों में से एक है। वे अपनी टीम के साथ छात्रों को कुशल बनाना और उन्हें रोजगार के योग्य बनाना जारी रखेंगे|

उद्घाटन के अवसर पर बात करते हुए विधायक और पूर्व मंत्री शिक्षा और यूथ वेलफेय श्री आशीष शेलार ने कहा, जेटकिंग ने युवाओं को एक डिजिटल स्किल का विजन दिया है, जो आज यह देश का विजन बन गया है| और ये सोच, विजन भारवानी फॅमिली ने दी है | हमें आज सिर्फ रोजगार के बारे मैं सोचना नहीं है बल्कि रोजगार निर्मिति भी करनी होगी | आज, मै जेटकिंग के सीईओ हर्ष भारवानी और टीम का डिजिटल स्किल में योगदान देने के लिए उन्हें बधाई देता हूँ |

इस अवसर पर बोलते हुए डॉ. जयश्री जी. अय्यर (प्रिंसिपल, डॉ. अंबेडकर कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स, वडाला, मुंबई) ने कहा, हमारा देश मानव संसाधनों से भरा है। हमें अपने युवाओं को सही दिशा में मार्गदर्शन करना चाहिए ताकि वे हमारे भविष्य के समाज के स्तंभ बन सकें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here