अब गूगल-पे के जरिये किसी बैंक में खुलवाएं एफडी

0
200
345 Views

अब आप गूगल-पे के जरिये सावधि जमा (एफडी) खोल सकते हैं। गूगल ने इस सुविधा को शुरू करने के लिए फिनटेक कंपनी सेतु के साथ समझौता किया है। सेतु के एपीआई के जरिये ही भारत के ग्राहकों को एफडी की स्कीम दी जाएगी। गूगल ने एफडी देने की शुरुआत इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक के साथ शुरू किया था।

गूगल के साथ हुए करार के तहत इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक की एफडी एक साल के लिए दी जाएगी। गूगल-पे ग्राहकों को एफडी कराने पर अधिकतम 6.35 फीसदी का ब्याज दिया जाएगा। गूगल की इस एफडी स्कीम को लेने के लिए ग्राहक को आधार नंबर देकर केवाईसी कराना होगा। आधार नंबर के आधार पर ही मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा। इसके लिए ‘सेतु’ ने एपीआई के लिए बीटा वर्जन तैयार कर लिया है। अब इसके बाद का काम जारी रखा गया है ताकि जल्द से जल्द यह स्कीम शुरू की जा सके। गूगल खुद की एफडी स्कीम नहीं बेचेगा बल्कि अन्य बैंकों की एफडी को गूगल-पे के जरिये ग्राहकों को देगा।

गूगल-पे से एफडी ग्राहकों के लिए बड़ी सुविधा कही जा रही है, क्योंकि यह पूरी तरह से मोबाइल आधारित होगा। स्मार्टफोन में गूगल-पे का जिस तरह से चलन बढ़ा है, उसे देखते हुए एफडी स्कीम को बड़ी पहल माना जा रहा है। अब एफडी के लिए सिर्फ बैंकों या गैर-बैंकिंग संस्थाओं पर ही निर्भर नहीं रहना होगा। अब यह काम मोबाइल से हो सकेगा और वह भी गूगल-पे जैसे मोबाइल वॉलेट से संभव होगा। सबसे अच्छी बात यह है कि किसी बैंक में एफडी खोलने के लिए उस बैंक में बचत खाता होना जरूरी नहीं होगा।

कौन खोल सकता है एफडी

रिपोर्ट में कहा गया है कि एफडी खोलने के लिए आधार आधारित केवाईसी अनिवार्य होगा। यानी जो भी ग्राहक गूगल-पे के जरिये एफडी करना चाहेंगे उनको आधार केवाईसी पूरी करनी होगी। इसके नहीं करने पर वह एफडी नहीं करा पाएंगे।

कितना मिलेगा ब्याज

दी गई जानकारी के मुताबिक, 7-29 दिन, 30-45 दिन, 46-90 दिन, 91-180 दिन, 181-364 दिन और 365 दिन के लिए एफडी स्कीम दी जाएगी। सबसे कम दिन की एफडी के लिए 3.5 फीसदी और 1 साल की एफडी पर 6.35 फीसदी ब्याज दिया जाएगा।

गूगल-पे से जुड़े खाते में आ जाएगा पैसा

मिली जानकारी के अनुसार, गूगल-पे से एफडी कराने पर जब एफडी मैच्योर होगी तो उसका पैसा ग्राहक के गूगल पे खाते में ट्रांसफर हो जाएगा। इसमें ग्राहक का सीधा संबंध गूगल और गूगल पे होगा न कि इक्विटास स्मॉल फाइनेंस बैंक से। इसी तरह की बात उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक और एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक के साथ चल रही है। बाद में इनकी एफडी स्कीम भी गूगल के जरिये खरीदे जा सकेंगे। अगर यह सिस्टम कामयाब रहता है तो अन्य पेमेंट ऐप पर भी लागू हो सकता है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here