आईपीओ लेकर होम फर्स्ट फाइनेंस आएगी, जुटाने होंगे 1500 करोड़

0
223
319 Views

फाइनेंस कंपनी होम फर्स्ट फाइनेंस (एचएफएफसी) को भारतीय प्रतिभूति और विनियम बोर्ड (सेबी) से आईपीओ पेश करने की इजाजत मिल गई है। कंपनी इस इश्यू के जरिए प्राथमिक बाजार से 1,500 करोड़ रुपये जुटा सकती है।
कंपनी ने 28 नवंबर 2019 को सेबी के पास अपना याचिका मसौदा (डीआरएचपी) दाखिल किया था। इस इश्यू में कंपनी 400 करोड़ रुपये के फ्रेश शेयर जारी करने वाली है, जबकि मौजूदा शेयरधारक अपनी हिस्सेदारी से 1,100 करोड़ रुपये के शेयर बिक्री के लिए पेश करेंगे।
कंपनी के मौजूदा शेयरधारकों और प्रमोटर्स में ट्रू नॉर्थ फंड वी एलएलपी, ऐथर मॉरिशस, बेस्सेमेर इंडिया कैपिटल होल्डिंग्स, पीएयस जयकुमार, मनोज विश्वनाथन और भास्कर चौधरी शामिल हैं।
याचिका मसौदे के अनुसार, कंपनी आईपीओ से पहले 160 करोड़ रुपये की प्री-आईपीओ प्लेसमेंट भी कर सकती है, जिसे आईपीओ की राशि से घटा दिया जाएगा। हालांकि, इसके लिए कंपनी इश्यू के प्रबंधकों की सलाह लेने वाली है।
कंपनी इस इश्यू से होने वाली आय का इस्तेमाल अपना पूंजी आधार बढ़ाने और भविष्य में आने वाली पूंजी जरूरतों को पूरा करने के लिए करने वाली है। कंपनी का मानना है कि लिस्टिंग से इसे फायदा होगा और इसके बिजनेस और ग्रोथ में इजाफा होगा।
वित्त वर्ष 17 से 19 के दौरान, होम फर्स्ट के ग्रॉस लोन एसेट्स 69.8 फीसदी सालाना बढ़तकर 847.32 करोड़ रुपये से 30 सितंबर 2019 तक 3,133.38 करोड़ रुपये हो गए। कंपनी के 72.6 फीसदी ग्राहक नौकरी करते हैं. 24.6 फीसदी लोग स्वरोजगार से जुड़े हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here