आरसीबी और केकेआर के मुकाबले मे जीत की लय को बनाये रखने की चुनौती

0
360
463 Views

लगातार दो करीबी मैचों में जीत से आत्मविश्वास से भरी कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) की टीम सोमवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में विराट कोहली की अगुवाई वाली रॉयल चैलेंजर बेंगलोर (आरसीबी) के खिलाफ मैच में इस लय को बरकरार रखना चाहेगी।

दोनों टीमें के नाम छह मैचों में चार जीत के साथ आठ अंक है लेकिन बेहतर नेट रनरेट के कारण केकेआर तालिका में रॉयल चैंलेंज बेंगलोर से एक स्थान ऊपर तीसरे पायदान पर है।

केकेआर और आरसीबी दोनों की परेशानी बल्लेबाजी हैं, इन टीमों के मुख्य बल्लेबाज लय बरकरार रखने में नाकाम रहे हैं। केकेआर ने हालांकि चेन्नई सुपर किंग्स और किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ पिछले दो मैचों में आखिरी ओवरों में शानदार गेंदबाजी से मैच का पासा पलटा है जिससे टीम का मनोबल काफी बढ़ा होगा। आसीबी के खिलाफ भी गेंदबाज यह लय बरकरार रखना चाहेंगे।

कप्तान कोहली की दमदार बल्लेबाजी से शनिवार को चेन्नई सुपर किंग्स को 37 रन से शिकस्त देने के बाद रॉयल चैलेंजर बेंगलोर की कोशिश भी जीत की लय बरकरार रखने की होगी।

केकेआर के लिए हांलांकि सबसे बड़ी चिंता की बात बड़े शॉट लगाने वाले आंद्रे रसेल की उपलब्धता होगी जो शनिवार को पंजाब के खिलाफ मैच में कैच लेने की कोशिश में चोटिल हो गये। कप्तान दिनेश कार्तिक ने हालांकि मैच के बाद उनकी चोट के बार में ज्यादा कुछ नहीं बताया।

उन्होंने कहा, ‘‘ जब भी रसेल चोटिल होते है, टीम की मुश्किलें बढ़ जाती है। वह विशेष, बहुत विशेष खिलाड़ी है। हमें देखना होगा और उनका ध्यान रखना होगा।’’

केकेआर के लिए कार्तिक का लय में आना शुभ संकेत है जिन्होंने पंजाब के खिलाफ 29 गेंद में 58 रन की शानदार पारी खेली। सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल भी लय में है।

सुनील नारायण की जगह पारी का आगाज कर रहे राहुल त्रिपाठी ने सीएसके के खिलाफ 81 रन बनाये लेकिन पंजाब के खिलाफ उनका बल्ला नहीं चला। नितीश राणा और इंग्लैंड के कप्तान मोर्गन लगातार अच्छी बल्लेबाजी करने में विफल रहे है।

शुरूआती मैचों में लचर बल्लेबाजी करने वाले कोहली के लय में आने से आरसीबी की बल्लेबाजी को बल मिला है। इस 31 साल के खिलाड़ी ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ 43 और फिर चेन्नई के खिलाफ 90 रन की पारी खेली।

सलामी बल्लेबाज देवदत्त पड्डीकल को छोड़कर दूसरे बल्लेबाजों के प्रदर्शन में निरंतरता नहीं रहीं है। आरोन फिंच और एबी डिविलियर्स लय हासिल करने के लिए जूझते दिख रहे है।

गेंदबाजी में युजवेंद्र चहल शानदार लय में है। दक्षिण अफ्रीका के हरफनमौला क्रिस मौरिश के आने से टीम के लिए इस विभाग में पैनापन आया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here