इलेक्ट्रिक गाड़ियों को लेकर बड़ी खबर, सरकार ने दी यह बड़ी जानकारी

0
72
114 Views

इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर बड़ी खबर है। महंगे पेट्रोल डीजल के कारण अब लोग इलेक्ट्रिक गाड़ियों खरीदना पसंद कर रहे है। ऐसा करने से पैसे की बचत तो ही रही है वहीं यह प्रदूषण को कम करने की दिशा में भी अच्छा कदम साबित होगा। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में चालू वित्त वर्ष में सितंबर-नवंबर के दौरान कुल वाहनों की बिक्री में इलेक्ट्रिक गाड़ियों की हिस्सेदारी नौ प्रतिशत रही। यह राष्ट्रीय औसत से छह गुना अधिक है।  

दिल्ली सरकार ने मंगलवार को एक बयान में यह जानकारी देते हुए कहा कि राष्ट्रीय राजधानी भारत की ईवी (इलेक्ट्रिक वाहन) राजधानी के रूप में उभर रही है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम राजधानी में प्रदूषण कम करने के लिये हरसंभव उपाय कर रहे हैं। ”मुझे खुशी है कि कुल वाहन बिक्री में इलेक्ट्रिक वाहनों की नौ प्रतिशत  हिस्सेदारी के साथ दिल्ली, भारत की ईवी राजधानी के रूप में उभर रही है।” 

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्ली की प्रगतिशील इलेक्ट्रिक वाहन नीति व्यापक स्तर पर सफल साबित हुई है और ईवी की बिक्री तेजी से बढ़ रही है।  बयान के अनुसार शहर में कुल वाहनों की बिक्री में ईवी की हिस्सेदारी नौ प्रतिशत है जबकि राष्ट्रीय औसत 1.6 प्रतिशत है।

दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री सीएनएजी और डीजल वाहनों से अधिक रही है। सीएनजी से चलने वाले वाहनों की बिक्री पिछली तिमाही (सितंबर-नवंबर) में घटकर सात प्रतिशत पर आ गयी। बयान के अनुसार दिल्ली में सितंबर-नवंबर के दौरान कुल 9,540 इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री हुई।  आलोच्य तिमाही के दौरान पेट्रोल से चलने वाले वाहनों की बिक्री 82,626 इकाई रही। वहीं सीएनजी वाहनों की बिक्री 7,820 और डीजल वाहनों की बिक्री 2,688 इकाई रही। 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here