एसबीआई एटीएम से कैश निकालने से लेकर DL तक के 5 नियम आज से बदल गए हैं

0
461
692 Views

एक जुलाई से नया महीना शुरू हो गया है। इसके साथ ही बैंकिंग, टीडीएस, लाइसेंस से लेकर कैश निकालने तक के नियमों में कई बड़े बदलाव हो रहे हैं, जिनका सीधा असर आपके के जीवन पर पड़ने वाला है। हम आपको ऐसे 5  बड़े बदलावों के बारे में बता रहे हैं, जिनका असर आप पर पड़ेगा।

1. एसबीआई से बैंकिंग होगी महंगी

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के ग्राहकों को 1 जुलाई यानी आज से नकद निकासी और चेक इस्तेमाल के लिए अधिक पैसे देने होंगे। एसबीआई ग्राहकों को बैंक से चार बार से ज्यादा पैसा निकालने पर अतिरिक्त चार्ज देना होगा जिसमें बैंक के एटीएम भी शामिल हैं। चार बार पैसा निकालने के बाद हर निकासी पर आपको 15 रुपये और जीएसटी जोड़ कर शुल्क देना होगा। सभी नए सर्विस चार्ज बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट खाताधारकों पर लागू होंगे। इन खाताधारकों को 10 चेक लेने पर 40 रुपये प्लस जीएसटी चार्ज देना होगा। 

2. एक्सिस बैंक के नए एसएमएस अलर्ट शुल्क

टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी द्वारा शुरू की गई नई व्यवस्था के बाद एक्सिस बैंक 1 जुलाई 2021 से प्रत्येक एसएमएस अलर्ट के लिए ग्राहकों से 25 पैसे प्रति SMS या महीने में अधिकतम 25 रुपये वसूल करेगा। इसमें प्रचार संदेश या लेनदेन के प्रमाणीकरण के लिए भेजे गए ओटीपी शामिल नहीं होंगे

3. टीडीएस, टीसीएस ज्यादा कटेगा

आयकर विभाग रिटर्न नहीं भरने वालों से 1 जुलाई यानी आज से ज्यादा टीडीएस, टीसीएस वसूलेगा। आयकर विभाग ने तय किया है कि जिन्होंने पिछले दो वर्षों से आयकर रिटर्न जमा नहीं किया है, उनपर अब सख्ती से निपटा जाएगा। यह नियम उन टैक्सपेयर्स पर लागू होगा, जिनका सालाना टीडीएस TDS 50,000 रुपये या इससे ज्यादा होता है। इनकम टैक्स रिटर्न नहीं दाखिल करने वालों के लिए लागू दर से अधिक पर टैक्स डिडक्शन का प्रावधान है। न्यूनतम 5 प्रतिशत या संबंधित सेक्शन में दिए गए रेट्स का दोगुना में से जो भी अधिक हो वह रेट होगा।

4. आरटीओ जाने की जरूरत नहीं होगी

लर्निंग लाइसेंस बनवाने के लिए अब आपको आरटीओ जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। ऑनलाइन आवेदन करने के साथ ही घर से ही टेस्ट भी दिया जा सकेगा। टेस्ट में पास होने के बाद लर्निंग लाइसेंस आपके घर पहुंच जाएगा। हालांकि स्थाई लाइसेंस के लिए ट्रैक पर वाहन चलाकर दिखाना होगा। नई व्यवस्था जुलाई से कई राज्यों में लागू हो रही है।

5. नया आईएफएससी कोड करना होगा इस्तेमाल

सिंडिकेट बैंक का केनरा बैंक में विलय हो चुका है इसलिए अब 1 जुलाई से बैंक के आईएफएससी कोड बदल दिए गए हैं।  इसके साथ ही आईडीबीआई बैंक 1 जुलाई से चेक लीफ चार्ज, सेविंग अकाउंट चार्ज और लॉकर चार्ज में बदलाव हो गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here