कम महत्वपूर्ण सरकारी संपत्तियों को बाजार में उतारने पर आज वित्त मंत्रालय और नीति आयोग के अधिकारी करेंगे चर्चा

0
263
397 Views

वित्त मंत्रालय और नीति आयोग के अधिकारी मंगलवार को गैर-महत्वपूर्ण संपत्तियों की पहचान और प्रक्रियाओं को बेहतर बनाने समेत उसे बजार पर चढ़ाने के उपायों पर गहन चर्चा करेंगे। अधिकारियों ने कहा कि निवेश और लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) और नीति आयोग के इस कार्यशाला में गैर-प्रमुख संपत्तियों की पहचान और उनकी तेजी से बिक्री के तौर-तरीकों पर विचार किया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले महीने कहा था कि तेल एवं गैस तथा बिजली क्षेत्र समेत सार्वजनिक उपक्रमों की बिना उपयोग या कम उपयोग वाली 100 संपत्तियों को बाजार पर चढ़ाया जाएगा। इससे 2.5 लाख करोड़ रुपये के निवेश के अवसर सृजित होंगे। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2021-22 के बजट भाषण में कहा था कि नए बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए वित्त पोषण को लेकर सार्वजनिक ढांचागत संपत्ति को बाजार पर चढ़ाना महत्वपूर्ण विकल्प है।

उन्होंने कहा था, पुरानी ढांचागत संपत्तियों के लिए एक राष्ट्रीय मौद्रीकरण पाइपलाइन की शुरूआत की जाएगी। साथ ही संपत्ति को बाजार पर चढ़ाये जाने के मामले में प्रगति पर नजर रखने और संबंधित सूचनाएं वास्तविक समय पर निवेशकों को उपलब्ध कराने के लिए डैशबोर्ड की शुरुआत की जाएगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here