सेंसेक्स ने लगाई 800 अंकों की छलांग, निवेशक हुए मालामाल

0
65
112 Views

कल बजट पेश होना है उससे पहले आज शेयर बाजार में अच्छी खरीदारी देखने को मिली है। सेंसेक्स-निफ्टी में आज जोरदार तेजी रही। सेंसेक्स 813 अंक यानी 1.42% उछल कर 58,014.17 बंद हुआ तो निफ्टी 237 अंक यानी 1.39% की तेजी के साथ 17,339 के पर बंद हुआ।

आज रियल्टी और IT कंपनियों के शेयर्स में ज्यादा तेजी नजर आई। रियल्टी सेक्टर के शेयरों में आज 3.17 फीसदी की बढ़त देखने को मिली उसके बाद आईटी सेक्टर के स्टॉक्स में  2.70%, हेल्थकेयर सेक्टर में 2.70%, और इंफ्रा स्टॉक्स में 1.42% और टेलीकॉम कंपनियों के शेयरों में 1.32% की तेजी रही। संसद में इकोनॉमिक सर्वे पेश होने के बाद बाजार में भारी तेजी दिखी, जिससे निवेशकों की खूब कमाई हुई। बता दें कि बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 264.45 लाख करोड़ रुपए है। शुक्रवार को यह 261.23 लाख करोड़ रुपए था।

सुबह का कारोबार

आर्थिक सर्वे से पहले शेयर बाजार की शुरुआत आज शानदार रही। बीएसई का 30 स्टॉक्स पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 645 अंकों की उछाल के साथ 57,845.91 के स्तर पर खुला तो निफ्टी ने 200  अंक ऊपर 17301 के स्तर से आज दिन के कारोबार की शुरुआत की। शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 712.61 अंकों की बढ़त के साथ 57,912.84 पर था तो निफ्टी 202.15 अंकों की तेजी के साथ 17,304.10 के स्तर पर। निफ्टी टॉप गेनर में ओएनजीसी, बजाज फाइनेंस, इन्फोसिस, विप्रो और टेक महिंद्रा जैसे स्टॉक थे तो टॉप लूजर में एलएंडटी और एनटीपीसी। निफ्टी 50 के केवल 2 स्टॉक लाल निशान पर थे।

इस हफ्ते कैसी रहेगी बाजार की चाल

स्थानीय शेयर बाजारों के लिए यह सप्ताह काफी घटनाक्रमों भरा रहेगा। सप्ताह के दौरान कई महत्वपूर्ण गतिविधियां होने वाली हैं, जो बाजार को दिशा देंगी। विश्लेषकों का कहना है कि इस सप्ताह आम बजट 2022-23, वृहद आर्थिक आंकड़े, कंपनियों के तिमाही नतीजे और वैश्विक रुख बाजार को दिशा देंगे।

सप्ताह के पहले दिन आर्थिक सर्वे पेश होगा। इसके बाद एक फरवरी मंगलवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आम बजट पेश करेंगी। जबकि फरवरी के पहले हफ्ते में आरबीआई की नई मौद्रिक नीति भी आएगी। बाजार के जानकारों का कहना है कि जिस तरह बीते पांच महीनों से विदेशी निवेशक बिकवाल बने हुए हैं उसे देखते हुए अगला हफ्ता बाजार के बेहद अहम हो सकता है। विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने जनवरी में भारतीय शेयर बाजारों से 28,243 करोड़ रुपये निकाले हैं। अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरों में बढ़ोतरी का संकेत दिया है जिसके चलते एफपीआई बिकवाली कर रहे हैं। 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here