कुछ सरकारी कंपनियों पर कोरोना का कोई प्रभाव नही, कमा बैठे 400 करोड़ रुपये

0
181
255 Views

दुनियाभर के शेयर बाजारों ने गहरी डूबकी लगाई हुई है। कोरोना वायरस का खौफ इतना बढ़ गया है कि सभी निवेशक नुकसान में अपना पैसा बाजारों से निकाल रहे हैं। भारत में भी बड़ी बड़ी कंपनियों को नुकसान उठाना पड़ रहा है। वहीं दूसरी ओर कुछ कंपनियां ऐसी भी हैं जिन्हें कोरोना वायरस का कोई खौफ नहीं है। वो बाजार में हरे निशान पर पर कारोबार कर रही हैं और मुनाफा भी कमा रही हैं।
एक बजे तक के कारोबार पर नजर दौड़ाएं तो गेल और डॉ रेड्डी लेबोटरीज जैसी कंपनियां भी हैं तो मामूली बढ़त बनाए हुए हैं। यहां तक उन्होंने 200 करोड़ रुपए से लेकर करीब 400 करोड़ रुपए तक का मुनाफा कमा लिया है। आइए आपको भी बताते हैं इन कंपनियों के बारे मेंज्
गेल इंडिया को 384 करोड़ रुपए का मुनाफा
मौजूदा समय में शेयर बाजार में गेल इंडिया का शेयर हरे निशान पर कारोबार कर रहा है। आंकड़ों पर बात करें तो गेल इंडिया का शेयर 108.25 रुपए प्रति शेयर पर कारोबार करता दिखाई दे रहा है। जबकि कल कंपनी का शेयर 107.40 रुपए प्रति शेयर पर बंद हुआ था। जिसकी वजह से कंपनी का मार्केट कैप 384 करोड़ रुपए के मुनाफे के साथ 48506.04 करोड़ रुपए से 48,889.94 करोड़ रुपए पर आ गया है।
डाॅ रेड्डी को हुआ इतना फायदा
वहीं दूसरी ओर डॉ रेड्डी लेबोटरील लिमिटेड कंपनी का शेयर बीएसई के प्रमुख शेयरों में से एक है। जो मामूली बढ़त के साथ कारोबार करता दिख रहा है। मौजूदा समय में कंपनी का शेयर 3081.30 रुपए प्रति शेयर पर है। जबकि गुरुवार को कंपनी का शेयर 3068.65 रुपए प्रति शेयर पर बंद हुआ था। ऐसे में कंपनी का मार्केट गुरुवार के 50,973.66 करोड़ रुपए के मुकाबले बढ़कर 51,183.79 करोड़ रुपए पर आ गया है। कंपनी को अभी तक के कारोबार में 210 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है।
एनएलसी को हुआ 90 करोड़ रुपए का फायदा
वहीं दूसरी ओर बीएसई में लिस्टेड कंपनी एनएलसी इंडिया लिमिटेड भी हरे निशान पर कारोबार करती हुई दिखाई दे रही है। कंपनी के शेयर प्राइस में कल के मुकाबले भारी गिरावट के बावजूद 65 पैसे प्रति शेयर बाजार में फायदा होता हुआ दिखाई दे रहा है। जिसकी वजह से कंपनी का शेयर 59.85 रुपए प्रति शेयर के मुकाबले 60.50 रुपए प्रति शेयर पर आ गया है। जिसके बाद कंपनी का मार्केट कैप 90 करोड़ रुपए के इजाफे के साथ 8299 रुपए से बढ़कर 8,389.15 करोड़ रुपए पर आ गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here