कोरोना के विरूद्ध संघर्ष को जन-अभियान बनाएं, संक्रमण को पूरी तरह समाप्त करें

0
153
199 Views



कोरोना के विरूद्ध संघर्ष को जन-अभियान बनाएं, संक्रमण को पूरी तरह समाप्त करें


एक्टिव मरीजों की संख्या हुई 2500 से कम
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की
 


भोपाल : मंगलवार, जून 16, 2020, 22:16 IST

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण की गति निरंतर धीमी हो रही है। देश की तुलना में मध्यप्रदेश की संक्रमण ग्रोथ रेट आधी हो गई है। प्रदेश में कोरोना एक्टिव प्रकरण अब 2500 से नीचे आ गए है। अब कोरोना के विरूद्ध लड़ाई को जन-अभियान बनाएं तथा सभी के सहयोग से प्रदेश में कोरोना संक्रमण को पूरी तरह समाप्त करें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी श्री विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान उपस्थित थे।

हर वार्ड में स्वास्थ्य परीक्षण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि इस सप्ताहांत में भोपाल नगर के प्रत्येक वार्ड में स्वास्थ्य टीम पहुंचकर स्वास्थ्य परीक्षण करें। हमें हर संक्रमित व्यक्ति को ढूंढ़कर उसका इलाज करना है तथा संक्रमण को पूरी तरह रोकना है।

कोरोना ग्रोथ रेट 1.82 प्रतिशत, डबलिंग रेट 38.43 दिन

भारत की तुलना में मध्यप्रदेश की कोरोना स्थिति

 

12 मई को मध्यप्रदेश में प्रकरण

16 जून को मध्यप्रदेश में प्रकरण

16 जून को भारत में प्रकरण

भारत की तुलना में मध्यप्रेश का प्रतिशत

कुल प्रकरण

3986

11083

343090

3.2

एक्टिव प्रकरण

1901

2455

153178

1.6

रिकवरी

1860

8152

180012

4.5

मृत्यु

225

476

9900

4.5

पॉजीटिविटी दर

5.3 %

4.3%

5.7%

 

रिकवरी दर

46.7%

73.6%

52.5%

 

मृत्यु दर

5.6%

4.3%

2.9%

 

डबलिंग दर

18.1 दिन

38.43 दिन

19.4 दिन

 

ग्रोथ रेट

3.9%

1.7%

3.8%

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि प्रदेश की कोरोना ग्रोथ रेट 1.82 प्रतिशत है, जबकि भारत की 3.67 प्रतिशत है। इसी प्रकार मध्यप्रदेश की कोरोना डबलिंग रेट 38.43 दिन है, जबकि भारत की 19.23 दिन है। प्रदेश में एक्टिव प्रकरणों की संख्या 2 हजार 455 हो गई है। नए 148 मरीज मिले हैं, जबकि 249 मरीज स्वस्थ होकर घर गए हैं।

उज्जैन की रिकवरी रेट 80 प्रतिशत, कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग पर और ध्यान दें

उज्जैन जिले की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए गए कि वहां कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग पर और ध्यान दिया जाए, जिससे कोरोना संक्रमण पूरी तरह रोका जा सके। उज्जैन में 819 पॉजीटिव प्रकरणों में 103 एक्टिव हैं तथा 649 स्वस्थ हो गया हैं। उज्जैन की रिकवरी रेट 80 प्रतिशत है।

मेडिकल स्टोर्स जुकाम, खांसी, बुखार के मरीजो की जानकारी दें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि सभी मेडिकल स्टोर्स उनकी दुकान से बुखार, खांसी की दवा खरीदने वाले ग्राहकों की जानकारी ड्रग इंस्पेक्टर, चिकित्सा अधिकारी को दें। इससे संक्रमण की ट्रेसिंग करने में मदद मिलेगी।

प्रभारी अधिकारी विशेष ध्यान दें

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि जिलों में कोरोना की मॉनीटरिंग के लिए नियुक्त प्रभारी अधिकारी अपने प्रभार के जिलों में कोरोना की स्थिति पर विशेष ध्यान दें। कलेक्टर्स का मार्गदर्शन करें कि किस प्रकार जिलों में कोरोना संक्रमण पूरी तरह खत्म हो तथा हर मरीज स्वस्थ हो।

मृत्यु दर कम करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ए.सी.एस. हैल्थ श्री सुलेमान तथा संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि मध्यप्रदेश में कोरोना की मृत्यु दर को न्यूनतम किया जाए। इसके लिए उन सभी राज्यों का अध्ययन करें जहाँ की मृत्यु दर कम है तथा मध्यप्रदेश में सर्वोत्तम इलाज सुनिश्चित करें, जिससे हर कोरोना मरीज स्वस्थ हो सके।

हर कोविड मरीज को नि:शुल्क इलाज

मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में हर कोविड मरीज का नि:शुल्क इलाज किया जा रहा है। प्रदेश में कोरोना टैस्टिंग से इलाज तक की सारी सुविधा नि:शुल्क है। सरकारी अस्पतालों एवं अनुबंधित निजी अस्पतालों में कोविड का नि:शुल्क इलाज हो रहा है।


पंकज मित्तल



Source link

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here