कोविशील्ड की दोनों डोज के बीच कम होगा अंतराल? जानिए सरकार का जवाब

0
135
229 Views

कुछ दिनों पहले मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा था कि भारत में लगाए जाने वाली कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड की दोनों में गैप के अंतर को कम किया जा सकता है। लेकिन अब सरकार ने साफ कर दिया है कि खुराक के बीच अंतर को कम करने के फैसले पर किसी तरह का कोई विचार नहीं किया जा रहा है। बुधवार को सरकार के एक बड़े विशेषज्ञ ने यह जानकारी दी है। उन्होंने यह भी कहा है कि पढ़ाई करने के लिए ट्रैवल करने वाले छात्र और इंटरनेशनली ट्रैवल करने वालों के मामले में संशोधन करना जरूरी था।

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने कहा कि निजी केंद्रों पर टीका लगवाने वाले लोगों को अदालत के आदेश के अनुरूप जल्द ही अपना दूसरा शॉट लेने की अनुमति मिल सकती है। हालांकि सरकार ने इस दावे को खारिज कर दिया है। कोविशील्ड के दूसरे शॉट्स के लिए 12-सप्ताह की प्रतीक्षा अनिवार्य है, जिसे सरकार ने वैज्ञानिक अध्ययनों का हवाला देते हुए रखा है, उनके मुताबिक लंबे अंतराल के साथ खुराक उच्च प्रभावकारिता दिखाती है।

टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) के कोविद -19 कार्यकारी समूह के अध्यक्ष डॉ एनके अरोड़ा ने कहा, “कुछ रिपोर्ट्स दिखा रही हैं कि केंद्र वैक्सीन के अंतर को कम करने वाला है, ये सही नहीं है। विभिन्न श्रेणियों के लोगों के लिए अलग-अलग नियम नहीं हो सकते हैं; यह भेदभावपूर्ण होगा और विज्ञान उस तरह काम नहीं करता है। पढ़ाई के लिए इंटरनेशनली ट्रैवल करने वाले छात्र और अंतरराष्ट्रीय यात्रा करने वाले अन्य लोगों के लिए संशोधनों के मामले में, दिशानिर्देशों को संशोधित करना अनिवार्य कारण था।”

उन्होंने कहा, “वैज्ञानिक रूप से हम इस समय अपने निर्णय पर बहुत दृढ़ हैं। लेकिन निश्चित रूप से, यह एक गतिशील स्थिति है, और अगर भविष्य में अंतर को कम करने के लाभों का समर्थन करने के लिए डेटा उपलब्ध होता है, तो हमारे विशेषज्ञ इसे जरूर देखेंगे। निर्णय विशुद्ध रूप से विज्ञान द्वारा संचालित होगा।”

मई में, विशेषज्ञ समिति ने कोविशील्ड को प्रशासित करने के लिए अंतराल को पहले के 6-8 सप्ताह से बढ़ाकर 12-16 सप्ताह करने की सिफारिश की थी। पहले यह गैप 4-6 हफ्ते का था।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here