गाँव वापस आये श्रमिकों ने कहा सरकार ने की हमारी चिन्ता

0
222
321 Views



गाँव वापस आये श्रमिकों ने कहा सरकार ने की हमारी चिन्ता


गाँव में ही मिल रहा रोजगार
 


भोपाल : मंगलवार, जून 9, 2020, 16:40 IST

कोरोना संक्रमण काल में विभिन्न शहरों से अपने गाँव वापस आये श्रमिकों के लिए रोजगार की समस्या का निदान किया मनरेगा योजना ने। ऐसे बहुत से श्रमिक जो अपने गाँव तो वापस आ गये, किन्तु घर-परिवार चलाने की समस्या उनके लिये किसी चुनौती से कम नहीं था। ऐसे श्रमिक परिवारों के लिये शासन ने मनरेगा योजना के तहत बड़ी संख्या में कार्य प्रारंभ किये। इन कार्यों के प्रारंभ होने से स्थानीय ग्रामीणों और प्रवासी श्रमिकों को रोजगार मुहैया हुआ है। राज्य सरकार ने मनरेगा में जल संरक्षण के तहत तालाब गहरीकरण, नदी, नालों सहित अन्य जल स्त्रोतों के संरक्षण कार्य के एवं गाँव में आधारभूत संरचनाओं के निर्माण से जुड़े कार्यों को शुरू कर श्रमिकों को गाँव में रोजगार उपलब्ध करवाया है। गाँव में रोजगार पाकर श्रमिक कहते हैं कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को हमारी चिन्ता है।

रायसेन जिले के साँची जनपद के शाहपुर ग्राम निवासी कल्लू और मोहम्मद हनीफ गाँव में रोजगार पाकर बहुत खुश है। कल्लू ने बताया कि कोरोना वायरस के कारण 25 मार्च 2020 को लॉकडाउन घोषित किया गया। लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही सारे काम धंधे बंद हो गये। कल्लू भोपाल में काम कर रहा था। दो-तीन दिन बाद वापस अपने गाँव शाहपुर आ गया। गाँव आने पर उसके पास कोई ऐसा काम नहीं था। परिवार का भरण-पोषण कैसे करेगा। यह बहुत बड़ी समस्या थी। जीवन दूभर लगने लगा था। कल्लू ने बताया कि सरकार ने मनरेगा में जल संरक्षण का काम शुरू किया । इससे बहुत बड़ी मदद मिली है। कल्लू ने कहा कि कठिन समय में मिले इस काम ने हमारे जीने की राह आसान की है।

शाहपुर गाँव में ही मनरेगा में सोखता गड्डों का निर्माण कराया जा रहा है। कार्य प्रारंभ होने से गाँव में लगभग 70 प्रवासी श्रमिकों तथा ग्रामवासियों को रोजगार मिल रहा है। मोहम्मद हनीफ लॉकडाउन में पहले छतरपुर में काम करते थे। लॉकडाउन के कारण काम बंद होने से उनके सामने रोजगार का संकट होने के कारण वह गाँव वापस लौट आए। सरकार ने के तहत गाँव में ही रोजगार उपलब्ध कराया गया है। उन्होंने बताया कि मनरेगा के तहत गाँव में ही रोजगार मिलने से वह आर्थिक चिंता से मुक्त हो गए हैं। स्वयं को सुरक्षित भी महसूस कर रहे हैं। हनीफ सहित अन्य श्रमिकों ने गाँव में रोजगार देने के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का आभार माना है। मोहम्मद हनीफ कहते है कि मुख्यमंत्री श्री चौहान बहुत संवेदनशील हैं। कठिन समय में उन्होंने कमजोर वर्ग की चिंता की है। गाँव में ही रोजगार उपलब्ध कराकर मुख्यमंत्री ने हमारी बहुत बड़ी समस्या दूर कर दी है।


ओगारे/ महेश दुबे



Source link

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here