घर बैठे गूगल-एप्पल जैसी विदेशी कंपनियों में कर सकते हैं निवेश

0
150
217 Views

अर्थव्यवस्था में अनिश्चितता के दौर में आपके निवेश के पोर्टफोलियों की विविधता फायदे का सौदा साबित हो सकती है। आप घर बैठे भी विदेशी शेयर बाजार और कंपनियों में इंटरनेशनल म्यूचुअल फंड के जरिए निवेश कर सकते हैं। इसमें फैंग स्टॉक में निवेश का भी विकल्प मिलता है। हालांकि, इंटरनेशनल फंड के चुनाव में भी कुछ सावधानियां जरूरी हैं।

क्या है फायदा

विशेषज्ञों का कहना है कि इंटरनेशनल म्यूचुअल फंड के जरिए विकसित और विकासशील अर्थव्यवस्था दोनों तरह के देशों के बाजार में निवेश का विकल्प मिलता है। उनका कहना है कि विकसित देशों की अर्थव्यवस्था में उतार-चढ़ाव कम आता है जिससे नुकसान की आशंका कम रहती है। वहीं भारतीय निवेशकों के लिए यह डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट पर हेज यानी नुकसान के असर को भी कम करता है।

यह म्यूचुअल फंड की विशेष स्कीम होती है। इसके तहत संबंधित म्यूचुअल फंड का निवेश अन्य कई म्यूचुअल फंड में होता है। इसी वजह से इसे फंड्स ऑफ फंड कहते हैं। साथ ही इसमें विविधता भी रहती है। फंड ऑफ फंड्स में भी तेजी उतार-चढ़ाव नहीं होता है जिससे इसमें जोखिम कम होता है।

फैंग स्टॉक में निवेश का मौका

इंटरनेशनल म्यूचुअल फंड के जरिए आप फैंग स्टॉक में भी निवेश कर सकते हैं। अमेरिका की पांच शीर्ष नामचीन टेक्नोलॉजी कंपनियों के संयुक्त नाम को फैंग स्टॉक कहते हैं। इसमें फेसबुक, एप्पल, अमेजन, नेटफ्लिक्स और गूगल शामिल हैं। आप जब इनके शेयरों में निवेश करते हैं तो वह फैंग स्टॉक और इनसे जुड़े म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं तो फैंग फंड्स कहा जाता है।

क्या कहते हैं विशेषज्ञ

मौजूदा समय में कई भारतीय म्यूचुअल फंड कंपनियां इंटरनेशनल फंड में निवेश का विकल्प दे रही हैं। टीबीएनजी कैपिटल एडवाइजर के तरूण विरानी का कहना है कि इंटरनेशनल फंड में निवेश करते समय भी पोर्टफोलियो की विविधता और उस फंड के निवेश क्षेत्र पर जरूर गौर करें। ग्रीन पोर्टफोलियो के संस्थापक दीवम शर्मा का कहना है कि कुछ फंड कच्चा तेल यानी क्रूड से जुड़ी कंपनियों में निवेश अधिक करते हैं। जब क्रूड की मांग या कीमत घटेगी तो आपके निवेश पर भी असर होगा। वहीं दाम बढ़ने पर उसका लाभ भी मिलेगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here