जल्द ही बीमा पॉलिसी को डिजिटल लॉकर में रख पाएंगे, इस तरह बनाएं खाता

0
333
441 Views

आप जल्द ही सरकार के डिजिलॉकर का उपयोग अपने बीमा पॉलिसी दस्तावेजों को सुरक्षित रखने के लिए कर सकेंगे। बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण इरडा ने बीमा कंपनियों को डिजिलॉकर के इस्तेमाल होने वाला डिजिटल पॉलिसी जारी करने का निर्देश दिया है।

इरडा ने बीमा कंपनियों को डिजिलॉकर की सुविधा और इस्तेमाल के तरीके खुदरा बीमाधारकों से बताने का निर्देश दिया है। मौजूदा समय में ड्राइविंग लाइसेंस, गाड़ी का रजिस्ट्रेशन, मतदाता पहचान पत्र, पैन कार्ड, आधार और सरकार द्वारा जारी किए गए कई अन्य दस्तावेजों को डिजिलॉकर में रखने की सुविधा है। मणिपाल सिग्ना हेल्थ इंश्योरेंस के मुख्य परिचालन अधिकारी, प्रिया देशमुख गिल्बिल ने कहा कि यह कदम बीमाधारकों को बीमा के दस्तावेज सुरक्षित रखने और जरूरत पर आसानी से उसके इस्तेमाल में मदद करेगा। साथ ही भौतिक दस्तावेजों की जरूरत को खत्म करेगा। गौरतलब है कि भौतिक दस्तावेजों के उपयोग को कम करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा यह सुविधा शुरू की गई थी।

लागत, शिकायतों और सेवा सुधारने में मदद मिलेगी

विशेषज्ञों का कहना है कि डिजिलॉकर में बीमा दस्तावेज को डिजिटल रूप में रुखने के साथ कई दूसरे फायदे भी होंगे। यह बीमा कंपनियों की लागत कम करने, दस्तावेज खोने या नहीं मिलने को लेकर बीमाधारकों की ओर से मिली शिकायत में कमी लाने और सेवा सुधारने में मदद करेगा। डिजिटल रूप में दस्तावेज होने से फर्जीवाड़ा पर भी लगाम लगाने में मदद मिलेगी। यानी मोटा मोटा देखा जाए तो इससे ग्राहकों का अनुभव भी बेहतर होगा।

एनआईए में पहले से रखने की सुविधा

नेशनल इंश्योरेंस रिपॉजिटरी (एनआईआर) पहले से ही सिंगल ई-बीमा के दस्तावेज (ईआईए) रखने की सुविधा है लेकिन यह दूसरे दस्तावेजों को डिजिटल रूप में रखने की सुविधा नहीं देता है। वहीं, डिजिलॉकर अभी तक सभी बीमा पॉलिसियों को इलेक्ट्रॉनिक रूप में रखने की सुविधा नहीं दे रहा है, लेकिन अब यह सुविधा मिल जाएगी। एनआईआर दस्तावेज रखने के अलावा प्रीमियम अलर्ट, मोबाइल नंबर को बदलना और किसी को अकाउंट एक्सेस की सुविधा देता है।

क्या है डिजिलॉकर?

यह एक डिजिटल लॉकर यानी डिजिटल तिजोरी जिसमें आप अपने जरूरी कागजातों की कॉपी को सुरक्षित रख सकते हैं, जैसे ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, गाड़ी की आरसी, आधार वोटर आईडी कार्ड और कई सारे दूसरे दस्तावेज भी इसमें सुरक्षित रखा जा सकता है।

इस तरह बनाएं डिजिलॉकर में खाता

  • सबसे पहले गूगल प्ले स्टोर से डिजिलॉकर का एप या digitallocker.gov.in वेबसाइट पर जाएं। यहां पर आपको साइनअप का विकल्प मिलेगा। लेकिन पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आपका फोन नंबर आधार के साथ पंजीकृत हो।
  • साइनअप पर क्लिक करने के बाद अपना नाम, जन्म तिथि, पंजीकृत मोबाइल नंबर के साथ य ई-मेल आईडी, पासवर्ड डालें।पासवर्ड आपको खुद बनाना होगा।
  • इसके बाद 12 अंकों का आधार नंबर डालना होगा। जैसे ही आप आधार नंबर एंटर करेंगे आपको 2 विकल्प मिलेंगे। ओटीपी और फिंगरप्रिंट। आप इनमें से किसी का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • जैसे ही यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी, वैसे ही आपको यूजरनेम और पासवर्ड क्रिएट करने के लिए कहा जाएगा, जिसकी मदद से आप डिजिलॉकर को लॉग-इन कर सकेंगे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here