जिंदा जलाए गए पुजारी के परिवार को मनाने के बाद उनका अंतिम संस्कार किया गया

0
341
441 Views

राजस्थान (Rajasthan) के करौली (Karauli) जिले में पुजारी बाबूलाल वैष्णव का आज अंतिम संस्कार कर दिया गया. करौली जिले के एक छोटे से गांव बुंका में राधा-कृष्ण मंदिर में पुजारी बाबूलाल वैष्णव की हत्या बुधवार को हुई थी. गांव के कुछ दबंग लोगों ने जमीन विवाद के चलते बाबूलाल को जला दिया था. बाबूलाल के आक्रोशित परिवार ने पहले अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया था लेकिन बाद में प्रशासन के समझाने पर वे मान गए.

राजस्थान में पुजारी की हत्या का मामला मुद्दा तूल पकड़ चुका है. इसको लेकर राजनीतिक बयानबाजी जोर पकड़ने लगी है. बीजेपी नेताओं के एक समूह ने गांव में पहुचकर सरकार की कड़ी आलोचना की. पुजारी का परिवार हत्या के मामले को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहा था. लेकिन आखिरकार प्रशासन के समझाने के बाद पुजारी बाबूलाल वैष्णव का परिवार उनका अंतिम संस्कार करने के लिए राज़ी हो गया. इसके बाद पुजारी का अंतिम संस्कार कर दिया गया.

एसडीएम ने कहा है कि मौत से पहले अपने बयान में बाबूलाल वैष्णव ने आरोपियों के नाम लिखवाए थे. इनमें से दो को पुलिस मने हिरासत में ले लिया है और तीन अन्य की गिरफ़्तारी बाक़ी है.

इससे पहले गांव में पुजारी की हत्या के मामले में ग्रामीण समेत पीड़ित परिवार अंतिम संस्कार नहीं करने पर अड़ा रहा. ग्रामीणों की मांग थी कि जब तक पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिल जाता तब तक अतिंम संस्कार नहीं होगा.  पुजारी की हत्या के विरोध में गांव में ग्रामीणों की भीड़ जुटी रही. ग्रामीण 50 लाख की आर्थिक सहायता, सरकारी नौकरी, सुरक्षा एवं आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे. ग्रामीण पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिलने तक अंतिम संस्कार नहीं करने पर अड़े थे. 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here