जेट एयरवेज के फाउंडर नरेश गोयल गिरफ्तार

0
218
376 Views

जेट एयरवेज के फाउंडर नरेश गोयल के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग का नया केस दर्ज किया। केंद्रीय जांच एजेंसी ने बुधवार को उन्हें हिरासत में लेकर लंबी पूछताछ की। इसके बाद ईडी की टीम गोयल को लेकर उनके मुंबई स्थित घर पहुंची और यहां देर रात से तलाशी जारी है। प्रवर्तन निदेशालय जेट के 12 साल के वित्तीय लेन-देन की जांच कर रहा है। फेमा केस में गोयल, उनकी पत्नी और बेटे से भी कई बार पूछताछ हो चुकी है।
मुंबई की एक ट्रैवल एजेंसी ने पुलिस के पास गोयल, उनकी पत्नी अनीता और जेट एयरवेज के खिलाफ 46 करोड़ की धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया है। इस पर ईडी संज्ञान लेते हुए पूछताछ और छापेमारी कर रहा है। पिछले साल अगस्त में भी जांच एजेंसी ने गोयल के आवास पर छापेमारी की थी। इस दौरान उनकी 19 कंपनियों से जुड़े संदिग्ध लेन-देन की जानकारी मिली थी। इनमें से 14 फर्म भारत और 5 विदेश में हैं। तब ईडी ने इन कंपनियों में फंड ट्रांसफर करने के कई डिजिटल सबूत और अहम दस्तावेज जुटाए थे।
आरोप: गोयल ने बंद हो चुकी जेट कंपनी से लेन-देन में गड़बड़ी की
ईडी के मुताबिक, विदेशों में मौजूद कंपनियों पर गोयल के अप्रत्यक्ष रूप से नियंत्रण की बात सामने आई है। ये कंपनियां ऐसे देशों में हैं, जिन्हें टैक्स हैवन माना जाता है। आरोप है कि गोयल ने बंद हो चुकी अपनी एयरलाइन के जरिए लेन-देन में गड़बड़ी की। जांच एजेंसी के निशाने पर चल रहे गोयल और उनकी पत्नी को मई में लंदन जाते वक्त मुंबई एयरपोर्ट पर विमान से उतार लिया गया था। दोनों के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी है।
वित्तीय संकट के कारण पिछले साल जेट की उड़ानें थमीं
नरेश गोयल ने पिछले साल मार्च में जेट एयरवेज के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद 14 अप्रैल को एयरलाइन ने 8,000 करोड़ के घाटे का हवाला देकर ऑपरेशन बंद कर दिया था। जेट की उड़ानें बंद होने से इसमें काम करने वाले हजारों कर्मचारी बेरोजगार हो गए थे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here