गुरमीत चौधरी ने मुंबई में की थी वॉचमैन की नौकरी

0
71
116 Views

टीवी इंडस्ट्री में कई ऐसे कलाकार हैं जिन्होंने अपने दम पर अपना नाम बनाया। यहां तक पहुंचने के लिए उन्हें कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा है लेकिन कभी भी उन्होंने हार नहीं मानी। इन्हीं में एक हैं टीवी के जाने-माने कलाकार गुरमीत चौधरी..। गुरमीत टीवी इंडस्ट्री का बड़ा नाम हैं। आज वह अपना 38वां जन्मदिन मना रहे हैं और इस खास मौके पर जानेंगे कि उन्होंने इंडस्ट्री में आने के लिए कितने पापड़ बेले थे? एक्टर बनने का सपना लेकर मुंबई आने वाले गुरमीत चौधरी (Gurmeet Choudhary) ने शुरुआती दिनों में कई छोटी-मोटी नौकरी की थी। आपको जानकर हैरानी होगी कि गुरमीत चौधरी मुंबई के कोलाबा में स्थित एक स्टोर में वॉचमैन की नौकरी भी कर चुके हैं।

लोगों को किया इंस्पायर 
अपने स्ट्रगल के दिनों को याद करते हुए गुरमीत चौधरी का सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है। एक इंटरव्यू के दौरान ही गुरमीत ने खुलासा किया था कि करियर के शुरुआती दिनों में उन्हें वॉचमैन की नौकरी पड़ी थी लेकिन इस बात का मलाल नहीं है। न्यूज एजेंसी आईएएनएस को दिए गए इंटरव्यू में एक्टर ने कहा था, ‘मुझे लगता है कि यह बात बताने से मैं छोटा नहीं हो जाऊंगा कि मैंने वॉचमैन की नौकरी की है लेकिन इससे उन कई लोगों को प्रेरणा मिल सकती है जो मुंबई में अपने सपनों को पूरा करने आते हैं। कोई भी काम छोटा नहीं होता है। अगर तुरंत सफलता नहीं मिलती है तो हमें निराश नहीं होना चाहिए।’ एक्टर ने आगे बताया, ‘सफलता और असफलता एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। अगर आप अपनी असफलताओं को याद रखते हैं तो आप अपनी सफलता को अच्छे से हैंडल कर पाते हैं।’

पहले शो के बाद भी बुरी थी हालत
गुरमीत चौधरी ने एनडीटीवी इमेजिन के शो रामायण के लिए ऑडिशन दिया और उनका सेलेक्शन भी हो गया। इस शो में उन्होंने भगवान राम की भूमिका अदा की थी। इसी शो के सेट पर वह पहली बार देबीना बनर्जी से मिले थे। बहुत कम लोग जानते हैं कि इस शो के खत्म होने के बाद लगभग 3 साल तक गुरमीत चौधरी के पास कोई काम नहीं था।

जब गुरमीत को मिला बड़ा ब्रेक
साल 2011 में गुरमीत चौधरी की किस्मत ने पलटी मारी और उन्हें अपनी करियर का सबसे बड़ा ब्रेक मिला। उन्होंने टीवी सीरियल गीत में लीड रोल निभाया। इस सीरियल में उनके अपोजिट दृष्टि धामी नजर आई थी। गीत के जरिए गुरमीत चौधरी ने टीवी की दुनिया में अपने पैर जमा लिए थे और इसके बाद उन्होंने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा। गुरमीत चौधरी ने बॉलीवुड फिल्म खामोशियां, वजह तुम हो और पलटन के जरिए बड़े पर्दे के दर्शकों को एंटरटेन करने की भी पूरी कोशिश की। 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here