डिप्रेशन का खतरा बढ़ा सकता है जरूरत से ज्यादा मोटापा

0
154
214 Views

मोटापा आज वैश्विक समस्या बन चुका है। कई पूर्व अध्ययनों में इस बात के सबूत दिए गए हैं कि वजन का बढ़ना कई गंभीर बीमारियों की वजह बनता है। अब एक नए अध्ययन में दावा किया गया है कि उच्च बीएमआई अवसाद की गंभीरता से जुड़ा हुआ है। शोधकर्ताओं ने कहा कि अधिक वजन वाले लोगों में अवसाद का जोखिम भी ज्यादा होता है। 

यह अध्ययन ब्रिटेन के एक्सेटर विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा किया गया है। बड़े पैमाने पर किए गए इस अध्ययन में और अधिक सबूत मिले हैं कि जैसे जैसे मोटापा बढ़ता है, अवसाद का खतरा भी बढ़ता जाता है। उन्होंने कहा कि उच्च बीएमआई न केवल शारीरिक, बल्कि सामाजिक रूप से भी व्यक्ति को प्रभावित करता है।

भलाई की भावना में आती है कमी: इस अध्ययन में शोधकर्ताओं ने पाया कि अधिक वजन वाले या मोटापे के शिकार लोगों में उच्च रक्तचाप, मधुमेह और हृदय रोगों का खतरा तो होता ही है, इसके साथ ही जो नई बात इस अध्ययन में सामने आई है वो यह है कि ऐसे लोगों में भलाई की भावना भी कम होती जाती है। शारीरिक स्वास्थ्य पर मोटापे के खतरे सर्वविदित हैं, लेकिन शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में यह पता लगाने का प्रयास किया कि अधिक वजन होने से मानसिक स्वास्थ्य पर किस प्रकार का गंभीर प्रभाव पड़ सकता है।  

वैश्विक स्वास्थ्य चुनौती बना मोटापा:  प्रमुख लेखक जेस ओ लॉघलिन ने कहा कि मोटापा और अवसाद दोनों प्रमुख वैश्विक स्वास्थ्य चुनौतियां हैं, और हमारा अध्ययन आज तक का सबसे मजबूत सबूत प्रदान करता है कि उच्च बीएमआई अवसाद का कारण बनता है।

ब्रिटेन में हर चार में से एक वयस्क अधिक वजन की समस्या से ग्रस्त है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, मोटापाग्रस्त बच्चों की बढ़ती संख्या इस समय एक वैश्विक स्वास्थ्य चुनौती बन चुकी है।

ऐसे किया अध्ययन
शोधकर्ताओं ने आनुवंशिक विश्लेषण का उपयोग किया, जिसे मेंडेलियन रैंडमाइजेशन के रूप में जाना जाता है। इसमें शारीरिक व सामजाजिक प्रभावों की जांच की गई। शोधकर्ताओं ने मानसिक स्वास्थ्य डाटा के साथ ब्रिटेन बायोबैंक के 145, 000 से अधिक प्रतिभागियों के अनुवांशिक डाटा का भी विश्लेषण किया। उन्होनें उच्च बीएमआई से जुड़े अनुवांशिक रूपों की जांच के साथ अवसाद, चिंता और भलाई का आकलन करने के लिए प्रतिभागियों से एक प्रश्नावली भी भरवाई।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here