DNA जांच के बाद ही सैन्य अधिकारियों के शरीर प्रियजनों को सौंपे जाएंगेः सेना

0
102
160 Views

तमिलनाडु के कुन्नूर में हुए दुखद हादसे के बाद सेना का कहना है कि सभी सैन्य अधिकारियों के पार्थिव शरीरों को डीएनए पहचान के बाद ही प्रियजनों के सुपुर्द जाएगा। सेना को अवशेषों की पहचान करने में काफी दिक्कतें हो रही है। हालांकि सैन्य अधिकारियों के प्रियजनों की संवेदनशीलता और भावना को देखते हुए हर संभव उपाय किए जा रहे हैं। 

गुरुवार को सेना ने बयान जारी किया कि तमिलनाडु में सेना के हेलिकॉप्टर एमआई17वी5 विमान क्रैश मामले में 13 सैन्य अधिकारियों के पार्थिव शरीरों की पहचान की जा रही है। पहचान होने के बाद ही उन्हें परिजनों के सुपुर्द किया जाएगा। उधर, उन 13 सैन्य अधिकारियों के परिजन दिल्ली पहुंचना शुरू हो गए हैं। उन्हें सभी आवश्यक सहायता दी जाएगी। सेना के मुताबिक, पहचान की प्रक्रिया पूरी होने के बाद करीबी रिश्तेदारों के परामर्श से सभी कर्मियों का सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार सुनिश्चित किया जाएगा। 

गौरतलब है कि बुधवार को कुन्नूर में सेना के विमान हादसे में सीडीएस बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत और 11 सैन्य अधिकारियों का निधन हो गया था। इस हवाई दुर्घटना के बाद सेना के अधिकारी डीएनए जांच के जरिए पहचान की जा रही है। नश्वर अवशेषों की पहचान करने में सेना को कठिनाई हुई है। प्रियजनों की संवेदनशीलता और भावना को ध्यान में रखते हुए पहचान के लिए सभी संभव उपाय किए जा रहे हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here