दुनियाभर में फैले अजब-गजब अंधविश्वास

0
220
Superstition
306 Views

अगर आप सोचते हैं कि बिल्ली के रास्ता काट जाने, घर से निकलते वक्त छींक आने या फिर तीन लोगों के साथ जाने से काम बिगड़ जाने जैसे अंधविश्वास केवल भारत में पाये जाते हैं तो ऐसा सोचना बिलकुल गलत है। दुनिया के पढ़े-लिखे और आधुनिक माने जाने वाले देशों में भी तरह तरह के कई अंधविश्वास सैकड़ों वर्षों से चलन में हैं और इन पर आज भी विश्वास किया जाता है। इनमें से कुछ को ज्योतिष, वास्तु, पराविज्ञान, धर्म, तंत्र तथा इस दुनिया से बाहर की ताकतों से जोड़कर भी देखा जाता है। इनके मानने वालों का दावा होता है कि इन बातों को न मानने से नुकसान उठाना पड़ता है।
आईये जानते हैं कुछ ऐसे ही अंधविश्वासों के बारे में-

Gif courtesy : theyearofhalloween.com

रॉकिंग चेयर का अपने आप हिलना
अपने आराम के लिए यदि आप रॉकिंग चेयर का इस्तेमाल करते हैं तो कोई बात नहीं लेकिन आयरलैंड की किवदंतियों के मुताबिक खाली रॉकिंग चेयर को हिलाना बुरी आत्माओं को आमंत्रित करने जैसा है। और यदि रॉकिंग चेयर अपने आप हिल रही हो तो आपको सतर्क हो जाना चाहिए क्योंकि बुरी आत्मा चेयर पर बैठ चुकी है। आपके घर में काली ताकतों व दुर्भाग्य ने प्रवेश कर लिया है। आपकी मृत्यु हो सकती है। मेक्सिको में यह मान्यता है कि यदि गर्भवती महिला रॉकिंग चेयर को हिलाती है तो उसके होने वाले बच्चे पर दुष्प्रभाव पड़ता है। वहीं भारत सहित कुछ अन्य देशों में बच्चे के खाली पालने को झुलाना बुरा संकेत माना जाता है। अगर कोई व्यक्ति खाली पालना झुलाता है तो माना जाता है कि उसका कोई वंशज नहीं है।

Gif courtesy : tenor.com

1 नवंबर को अपने बेडरूम की खिड़की बंद रखना
स्पेन में लोग 1 नवंबर को अपने बेडरूम की खिड़कियां बंद रखते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस दिन मृत आत्माएं मुक्त रहती हैं और खिड़की से घर में प्रवेश कर सकती हैं।

Gif courtesy : hxchector.com

घर में छतरी खोलना
मिस्र सहित कई देशों में घर के भीतर छतरी खोलना अशुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि घर के बाहर मौसम से बचाने वाली छतरी को घर में खोलने से घर की रक्षा करने वाली आत्माएं इसे अपना अपमान समझकर नाराज हो जाती है। उन्हें ऐसा लगता है कि वे घर की रक्षा करने में समर्थ नहीं है और इसीलिए आप छतरी को घर में खोलकर अपनी रक्षा करना चाह रहे हैं।

Gif courtesy : stepfeed.com

रात में नाखून काटना
तुर्की, भारत, दक्षिण कोरिया व जापान में रात में नाखून काटा जाना अशुभ माना जाता है। इससे ईश्वर की कृपा और धन-संपत्ति दोनों में कमी आती है। जापान में तो यह भी कहा जाता है कि रात में नाखून काटने वाले व्यक्ति की अकाल मौत होती है। भारत में मान्यता है कि धन की देवी लक्ष्मी समृद्धि व धन के साथ रात को आती हैं व सुबह चली जाती हैं। ऐसे में रात को कचरा साफ करना, लोगों को पैसे देना, कर्ज चुकाना या फिर नाखून काटना लक्ष्मीजी का अनादर माना जाता है। एक अन्य भारतीय मान्यता के मुताबिक काला जादू करने वाले तांत्रिक तंत्र क्रिया के लिए व्यक्ति के नाखून अथवा पहने जाने वाले कपड़े के टुकड़े का इस्तेमाल करते हैं। रात में नाखून काटने पर यदि तांत्रिक उन्हें पा लेता है तो वह आप पर तांत्रिक क्रिया करने में सफल हो सकता है।

Gif courtesy : rebloggy.com
विनाश दिखाने वाली तस्वीरें
यूं तो भारत में भी रामायण व महाभारत के युद्ध के दृश्यों वाली तस्वीरें घर की दीवारों पर न लगाने की सलाह दी जाती है। इसके पीछे यह तर्क दिया जात है कि इससे घर में अशांति आती है। विश्व के अन्य देशों में फल व फूल के सूखे वृक्ष, डूबती हुई नावें, मोजे, युद्ध में तलवार से लड़ने के दृश्य, शिकार के दृश्य, दैत्य, भयावह दिखने वाले मुखौटे, इंद्रजाल (जादू), हाथियों को पकड़ना, दुखी या रोते हुए लोगों की फोटो को लगना अशुभ माना जाता है। इनसे इन्हें देखने वालों में निराशा व मनोबल टूटने जैसी समस्याएं आती हैं। इसके अलावा जिन अन्य तस्वीरों या प्रतिमाओं को अच्छा नहीं माना जाता उनमें सूअर, सांप, गधे, भेड़िए, बाज, उल्लू, चमगादड़, गिद्ध, कबूतर, कौवे व हिंसक जानवर शामिल हैं। भारत में देवी-देवताओं की टूटी और प्रतिमाओं और टूटे कांच को घर में रखने को अशुभ माना जाता है। इसके अतिरिक्त भगवान नटराज की प्रतिमा को भी घर में न रखने की बात कही जाती है।

Gif courtesy : bestanimations.com
नजर लगना
क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है कि आपकी किसी पसंदीदा चीज की किसी व्यक्ति ने तारीफ की हो और बाद में वह टूट गई हो? अंधविश्वासी इसे नजर लग जाना मानते हैं। गर्भवती महिलाएं, बच्चे और जानवर बुरी नजर के आसान शिकार माने जाते हैं। हिन्दू, यहूदी, बौद्ध तथा इस्लाम धर्म में इसका खूब जिक्र मिलता है। तुर्किस्तान, यूनान, मिस्र, ईरान, मोरोक्को व अफगानिस्तान सहित अनेक देशों में इस बुरी नजर से बचने के लिए व्यक्ति को अभिमंत्रित ताबीज दिया जाता है जिसे गले या बांह में पहनना होता है। ऐसा माना जाता है कि इसे पहनने से बुरी नजर लौट जाती है। इस अंधविश्वास को तो विकीपीडिया ने भी अपनी वेबसाइट पर जगह दी है। विकीपीडिया के मुताबिक यह एक तरह की दुष्टदृष्टि होती है जिससे किसी निर्दाेष व्यक्ति पर डाला जाता है। दुष्टदृष्टि में अलौकिक ताकत होती है और यह जिसे लगती है उसे चोट व दुर्भाग्य से होकर गुजरना पड़ता है। ऐसा माना जाता है कि जब कोई व्यक्ति जीवन में बड़ी सफलताएं व पहचान पा लेता है तो उसके आसपास के लोगों से ही उसे बुरी नजर लग जाती है। शायद इसीलिए हमारे यहां बच्चों को नजर से बचने के लिए काला टीका लगाने और घर को बुरी नजर से बचाने के लिए काली हांडी को लगाने की प्रथा है।

image courtesy :


घर में कंटीले पौधो का होना
अपने घर के अंदर किसी भी कांटेदार पौधे जैसे कैक्टस को रखने से पूरी तरह से बचें। यह माना जाता है कि कांटेदार पौधे – गुलाब को छोड़कर- पर्यावरण में तनाव को जन्म देते हैं। इसके अलावा, ये पौधे आपके घर की सजावट की समग्र संरचना को भी प्रभावित कर सकते हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि घर के अंदर कांटेदार पौधे आपके रिश्तों के लिए विशेष रूप से आपके परिवार के सदस्यों के साथ बिल्कुल भी अच्छे नहीं हैं। इन पौधों में एक तत्व होता है जो आपके रिश्तों को कमजोर करने की शक्ति रखता है। फेंग शुई के मुताबिक लिविंग रूम, बेडरूम या फिर घर के मुख्य द्वार के सामने कैक्टस को रखने से परिवार के सदस्यों में संघर्ष की स्थिति बनती है। साथ गलत क्षेत्र में रखने से नकारात्मक उर्जा आती है। वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर के भीतर बोन्साई और घर के सामने इमली, मेहंदी, बबूल, रूई के पौधों से बचने की सलाह देता है।

Image courtesy : freepik.com


पुराना कैलेण्डर, बंद घड़ी व कबाड़
लोककथाओं के मुताबिक घर में पुराना कैलेण्डर रखने से नकारात्मक असर पड़ता है। पुराना कैलेण्डर बीते समय में ले जाता है। इसी प्रकार रूकी या खराब घड़ी भी शुभ नहीं मानी जाती। फेंगशुई के मुताबिक रूकी या टूटी हुई घड़ी दुर्भाग्य लाती है। जिस प्रकार रूकी घड़ी आगे नहीं बढ़ती ठीक उसी प्रकार आप भी जीवन में रूक जाते हैं और आगे नहीं बढ़ पाते। इसी प्रकार माना जाता है कि मृत जानवरों की ट्रॉफी को घर में रखना भी नकारात्मक उर्जा पैदा करता है। विभिन्न देशों में जिन और चीजों को घर में न रखने की मान्यता है उनमें मृत पौधे, हरे रंग से पुताई, कुल्हाड़ी रखना, नये घर में पुराने घर की झाड़ू लाना, बगीचे में इस्तेमाल होने वाला फावड़ा, फ्लावार वास में लाल व सफेद रंग के फूलों का रखा जाना, घर में पक्षियों व जुगनू का घुस आना, अपने बेडरूम में बेड के सामने आइना होना, बिस्तर का व्यवस्थित न होना आदि प्रमुख हैं। कुछ देशों में घर के बाहर टिकी हुई सीढ़ी के नीचे से निकलना अशुभ माना जाता है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here