देश की कुछ एयरलाइन्स कंपनिया पिछले 5 सालो में आ चुकी है रोड पर

0
201
286 Views

आर्थिक संकट से गुजर रही एयरलाइन जेट एयरवेज की सभी विमान सेवाएं अस्‍थायी तौर पर बंद हो गई हैं। जेट एयरवेज की बदहाली को देखकर हर किसी को विजय माल्‍या की एयरलाइन किंगफिशर की याद आ रही है क्योंकि आज से ठीक सात साल पहले किगंफिशर एयरलान ने भी अपनी सेवाएं देना बंद कर दिया था। आज जेट एयरवेज के इन हालातों को देखकर लोग कह रहे हैं कि आने वाले समय में कहीं जेट एयरवेज भी किंगफिशर की तरह न हो जाए। हालांकि किंगफिशर के अलावा बीते सात सालों में देश की 4 एयरलाइन कंपनियों ने अपना कारोबार समेट लिया है। आज हम आपको बताएंगे कि कौन-कौन सी एयरलाइन बंद हो चुकी हैं।
किंगफिशर
विजय माल्‍या की किंगफिशर ने अपने कारोबार को 2012 में समेट लिया है। किंगफिशर के बंद होने के बाद से ही विजया माल्या देश से गायब है। किंगफिशर के मालिक विजय माल्‍या पर बैंकों के 9 हजार करोड़ रुपए का बकाया है।
जूम एयर
वैसे तो घरेलू एयरलाइन जूम एयर का अस्तित्‍व 2013 में आया लेकिन 2017 में कंपनी ने पहली उड़ान भरी थी। जूम एयर ने शुरुआत में दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और हैदराबाद जैसी राजधानियों में शुरुआती तौर पर अपनी सेवाएं देने की बात कही थी, लेकिन कुछ दिनों बाद नागर विमानन नियामक (DGCA) ने जूम एयर को सेफ्टी नियमों के उल्‍लंघन का दोषी पाया।
एयर कार्निवल
CMC ग्रुप की एयरलाइन एयर कार्निवाल की पहली उड़ान 2016 में भरी गई थी। शुरुआती महीनों में इस एयरलाइन का विस्‍तार दक्षिण भारत में हो रहा था लेकिन करीब एक साल में इस एयरलाइन पर कर्ज हो गया। साल 2017 में एयरलाइन बंद हो गई।
एयर कोस्टा
रीजनल एयरलाइन कंपनी एयर कोस्टा का विस्‍तार दक्षिण भारत में था। साल 2013 में शुरू हुई यह एयरलाइन भारतीय कारोबारी कंपनी LEPL ग्रुप कंट्रोल में थी। वित्‍तीय संकट में होने की वजह से कंपनी को अपना कारोबार समेटना पड़ा।
एयर पेगसास
बेंगलुरु की एयरलाइन एयर पेगसास ने अप्रैल 2015 में हवाई यात्रा की शुरुआत की और एक साल के भीतर ही कंपनी इस दौड़ से बाहर भी हो गई। यह Decor एविएशन की सब्‍सिडरी कंपनी थी। वित्‍तीय संकट में होने की वजह से एयर पेगसास को कारोबार समेटना पड़ा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here