फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्युचुअल फंड को सुप्रीम कोर्ट से लगा करारा झटका, 20 दिन में लौटने होंगे 9,122 करोड़ रुपये

0
283
385 Views

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्युचुअल फंड को करारा झटका देते हुए 20 दिन के अन्दर 9,122 करोड़ रुपये लौटाने के लिए कहा। इस पूरी प्रक्रिया में सर्वोच्च न्यायालय ने एसबीआई म्युचुअल फंड को बिचौलिये के रूप में नियुक्त किया है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में यह भी कहा कि अगर कोई भी पक्ष संतुष्ट ना हो तो वह सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं। 

अचानक लिए गए इस फैसले का बुरा प्रभाव बाजार पर पड़ा था। अप्रैल 2020 में फ्रैंकलिन टेम्पलटन ने 6 म्युचुअल फंड स्कीम को बंद कर दिया था। इसके लिए कंपनी ने निवेशकों से भी सलाह नहीं लिया था। जिसके बाद कर्नाटक हाईकोर्ट का फैसला कंपनी के खिलाफ आया था, इसी फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी। 

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में क्या कहा 

सर्वोच्च न्यायालय ने कंपनी को अपने निवेशकों को 20 दिन के अंदर 9,122 करोड़ रुपये भुगतान करने को कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने 3 दिसंबर को कहा था कि कंपनी एक सप्ताह के अंदर यूनिट होल्डर्स की एक बैठक बुलाए और उनसे सहमति ले। सुप्रीम कोर्ट ने इस पर टिप्पणी करते हुए कहा था, “मामला बहुत बड़ा है और लोग अपना पैसा वापस चाहते हैं” 

सबसे प्रमुख म्युचुअल फंड कंपनियों में से एक 

फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्युचुअल फंड भारत की प्रमुख फिक्सड इनकम फंड हाउसों में से एक है। अप्रैल में लाॅकडाउन के दौरान कंपनी ने बिना निवेशकों की सलाह पर अपनी 6 लोन देने वाली योजनाओं को बंद कर दिया था। जिसके बाद विवाद काफी बढ़ गया था। 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here