भारत में लॉन्च को लेकर एक कदम और आगे बढ़ी Tesla

0
119
185 Views

अमेरिकी इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता कंपनी Tesla की कारों का इंतज़ार भारतीय ग्राहकों को लंबे समय से है। बीते दिनों जब टेस्ला ने भारत में अपनी एंट्री का ऐलान करते हुए बेंग्लुरु में कंपनी का रजिस्ट्रेशन कराया तो चर्चा और भी तेज हो गई। अब कंपनी भारत में लॉन्च को लेकर एक कदम और आगे बढ़ गई है, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की वेबसाइट पर एक पोस्टिंग का जिक्र करते हुए ब्लूमबर्ग ने बताया कि टेस्ला के चार मॉडलों को भारत में सड़क पर चलने लायक प्रमाणित किया गया है।

वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार, टेस्ला के चार मॉडल भारतीय बाजार की सुरक्षा और उत्सर्जन आवश्यकताओं से मेल खाते हैं। पोस्टिंग में यह भी उल्लेख किया गया है कि, “टेस्टिंग में पता चलता है कि, व्हीकल इमिशन, सेफ़्टी और सड़क योग्यता के मामले में ये कारें भारतीय बाजार के अनुसार हैं। इन कारों में Tesla Model 3 और Model Y के वेरिएंट शामिल हैं, जैसा कि इससे पहले टेस्ला फैन क्लब द्वारा रिपोर्ट किया गया था।टेस्ला के सीईओ एलोन मस्क ने पहले संकेत दिया था कि कंपनी भारत में एक फैक्ट्री की शुरुआत कर सकती है। हालांकि इसके लिए ये जरूरी है कि टेस्ला भारत में आयात कर के वाहनों की बिक्री शुरू कर दे। इस मामले में टेस्ला इस बात पर भी जोर दे रही है कि, भारत में आयातित इलेक्ट्रिक वाहनों पर टैक्स में कटौती की जाए। उन्होनें अपने एक ट्विट में लिखा था, “दुनिया के किसी भी देश के मुकाबले भारत में आयात शुल्क सबसे ज्यादा है। इस देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को भी गैसोलीन से चलने वाले वाहनों की तरह समझा जाता है, जो कि पर्यावरण के लिए निर्धारित किए गए लक्ष्यों के हिसाब से ठीक नहीं है।” 

इस महीने की शुरुआत में, वायर एजेंसियों द्वारा यह बताया गया था कि भारत सरकार ने Tesla को स्थानीय खरीद में तेजी लाने और कर कटौती की मांग पर विचार करने से पहले विस्तृत विनिर्माण योजनाओं को साझा करने के लिए कहा है। Tesla की कर कटौती की मांग को देश के अन्य वाहन निर्माताओं से मिली-जुली प्रतिक्रिया मिली है। जहां फॉक्सवैगन और हुंडई ने टेस्ला की मांग का समर्थन किया है, वहीं महिंद्रा ने आयात शुल्क की समीक्षा करने की बात कही है। टाटा मोटर्स ने केंद्र से सभी इलेक्ट्रिक वाहन निर्माताओं के साथ समान व्यवहार करने को कहा था।

बहरहाल, मौजूदा स्थितियों को देखते हुए कहा जा सकता है कि, Tesla भारत में अपने ऑपरेशन को लेकर कुछ इंच और आगे बढ़ा है। बहुत जल्द ही देश में टेस्ला की पावरफुल इलेक्ट्रिक कारों को फर्राटा भरते हुए देखा जा सकता है। कंपनी ने हाल ही में बेंगलुरु में टेस्ला इंडिया मोटर्स एंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड के नाम से कंपनी भी रजिस्टर करवाया गया है। रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (RoC) के अनुसार, वैभव तनेजा, वेंकटरंगम श्रीराम और डेविड जॉन फेंस्टीन को टेस्ला इंडिया के निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here