माॅम्सकार्ट के अमन पोरवाल बने EO GSEA भोपाल राउण्ड के विजेता

0
502
626 Views
  • अब्दुल बसित व अक्षत बाहेती बने फस्र्ट व सेकण्ड रनर अप
  • विजेताओं को मिलेंगे नकद पुरस्कार, ट्राफी व प्रमाण पत्र
  • कोरोना प्रोटोकाॅल के चलते आॅनलाइन हुआ फिनाले

भोपाल, 17 जनवरी 2021। एंटरप्रेनर्स आॅर्गनाइजेशन (ईओ) के भोपाल चैप्टर द्वारा आयोजित प्रतिष्ठित ग्लोबल स्टूडेंट एंटरप्रेनरशिप अवार्ड (जीएसईए) का भोपाल फिनाले कल देर शाम संपन्न हुआ। एआईसी आरएनटीयू के सहयोग से आॅनलाइन आयोजित हुए इस फिनाले में विभिन्न काॅलेजों व यूनिवर्सिटी के 7 स्टूडेंट एंटरप्रेनरों ने अपने बिजनेस प्रजेंटेशन दिए। विजेताओं की घोषणा ईओ, भोपाल चैप्टर के जीएसईए वर्टिकल चेयर सिद्धार्थ चतुर्वेदी ने की। प्रतियोगिता का पहला पुरस्कार माॅम्सकार्ट के अमन पोरवाल ने जीता जबकि होलो शिक्षा के अब्दुल बसित साबूवाला फस्र्ट रनर अप रहे। पिनाकुलो के अक्षत बाहेती को सेकण्ड रनर अप का पुरस्कार मिला। अमन व अब्दुल को आगामी 11 से 13 फरवरी के बीच होने वाले जीएसईए नेशनल फिनाले में शामिल होने का मौका मिलेगा।

उल्लेखनीय है कि ईओ जीएसईए प्रतिभागियों के लिए 8 मेंटरिंग सत्रों का संचालन एआईसी-आरएनटीयू और ईओ सदस्यों द्वारा किया गया। इस दौरान इन स्टूडेंट एंटरप्रेनरों को बेसिक ऑफ एंटरप्रेन्योरशिप, सेल्स एंड मार्केटिंग एवं बिजनेस मॉडल कैनवस जैसे विषयों पर मार्गदर्शन दिया गया। इस प्रतियोगिता में जिन संगठनों का सहयोग रहा उनमें एआईसी-आरएनटीयू, यूनीटस केपीटल, हेडस्टार्ट, बी-नेस्ट, वाधवानी फाउंडेशन, जेएलयू फाउंडेशन व एडब्ल्यूएस एक्टीवेट शामिल हैं।

ईओ, भोपाल चैप्टर की अध्यक्षा निधि अग्रवाल ने बताया कि इस प्रतियोगिता को जज करने के लिए शहर के जाने माने बिजनेस लीडर्स योगेश खाकरे, अनिमेश जैन, अभिषेक गुप्ता एवं विभांशु कुमार को आमंत्रित किया गया था। उन्होंने कहा कि ईओ में शामिल उद्यमियों का सामूहिक अनुभव, इस आयोजन के माध्यम से छात्र उद्यमियों को तेजी से आगे बढ़ने में मदद करता है। यह समाज को वापस देने का कार्यक्रम है।
इस अवसर पर वेंचर केपीटल कंपनी 100 एक्स के फाउंडर मेम्बर व स्पेशल गेस्ट शशांक रणदेव ने नये स्टार्टअप्स को बिजनेस के लिए फण्ड जुटाने व मार्केट में अपनी जगह बनाने के बारे में उपयोगी टिप्स दिये। उन्होंने स्टार्टअप्स से कहा कि आपको कम किंतु असरदार शब्दों में 30 से 60 सेकण्ड के बीच अपने बिजनेस आयडिया को पेश करना आना चाहिए। देखादेखी में बिजनेस में नहीं उतरना चाहिए और निवेश मांगते वक्त अपने प्रजेंटेशन में पैसों को कहां और कैसे खर्च किया जायेगा इस बात को खासतौर पर शामिल करना चाहिए। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि निवेशक आपके बिजनेस आयडिया से ज्यादा प्रैक्टिकेलिटी और आपके पैशन को देखता है।
फस्र्ट प्राइज विनर अमन पोरवाल ने बताया कि उन्होंने फूड लवर्स में देश के विभिन्न राज्यों की डिशेस को घर बैठे ट्राय करने की चाहत को अपना बिजनेस बनाया। इसके लिए उनके ईकाॅमर्स स्टार्टअप -माॅम्सकार्ट- ने कुकिंग में एक्सपर्ट 500 से अधिक महिलाओं से टाईअप किया व उनके द्वारा बनाई जाने वाली हैल्दी व टेस्टी स्थानीय डिशेस को देशभर में फूड लवर्स तक पहुंचाने की शुरूआत की। आज वे 20 हजार से अधिक पिनकोड्स पर 1 हजार से अधिक मीठी, नमकीन व अन्य तरह की होम मेड डिशेस कोरियर कंपनियों की मदद से डिलीवर कर रहे हैं। वे अपने बिजनेस को आगे ले जाने के लिए फूड ब्लाॅगर्स तथा लाॅजिस्टिक व पेमेंट कंपनियों की भी मदद ले रहे हैं।
होलो शिक्षा के अब्दुल बसित साबूवाला ने बताया कि उनका स्टार्टअप होलो शिक्षा स्कूली शिक्षा को रोचक बनाने व फिजिक्स, केमेस्ट्री व बायोलाॅजी जैसे कठिन माने जाने वाले विषयों की आसानी से समझने योग्य बनाने के लिए आॅनलाइन थ्रीडी क्लासरूम सुविधा उपलब्ध करा रहा है। इसके लिए वे भारत सहित अमेरिका, ब्रिटेन व यूएई आदि में स्थित स्कूलों से टाईअप कर रहे हैं।
सेकण्ड रनर अप अक्षत बाहेती ने बताया कि उन्होंने विद्यार्थियों की पर्सनल मेंटरिंग और करियर गाइडेंस से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए उन्होंने पिनाकुलो नामक स्टार्टअप को आरंभ किया है। उन्होंने कहा कि 10 करोड़ से अधिक भारतीय युवा आज इस असमंजस में हैं कि वे अपने लिए ऐसे कौन से करियर का चुनाव करें जो उनकी क्षमता व योग्यता के अनुरूप हो। उनका स्टार्टअप ऐसे युवाओं को मार्गदर्शन देने का काम करता है।
क्या है जीएसईए?
ग्लोबल स्टूडेंट एंटरप्रेन्योर अवार्ड्स (जीएसईए) सेंट लुइस यूनिवर्सिटी, अमेरिका द्वारा 1998 में स्थापित एक उद्यमी संगठन कार्यक्रम है। इसके द्वारा 61 देशों में उन छात्रों के लिए इंटरनेशनल लेवल पर प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है जो कॉलेज या विश्वविद्यालय में पढ़ाई करते हुए अपना बिजनेस चलाते हैं। इस प्रतियोगिता में नामांकित विद्यार्थी लोकल व नेशनल लेवल केे काम्पीटिशन की एक सीरिज में दुनिया भर के विद्यार्थियों से प्रतिस्पर्धा करते हैं।
वहीं एंटरप्रेनरशिप आॅर्गनाइजेशन (ईओ)े उन छात्रों को समर्थन देता है, जिन्हें अपने बिजनेस को सफलता के अगले स्तर तक ले जाने के लिए जरूरी मार्गदर्शन, मान्यता और कनेक्शन की आवश्यकता होती है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here