मुनाफावसूली ने शेयर बाजार की तेजी थामी, 52000 के नीचे आया सेंसेक्स

0
381
457 Views

वैश्विक बाजारों की नरमी के बीच कुछ बड़ी कंपनियों के नुकसान के चलते बुधवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 300 अंक से अधिक गिर गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 310.50 अंक यानी 0.60 प्रतिशत की गिरावट के साथ 51,793.67 पर कारोबार कर रहा था। एनएसई का निफ्टी भी 74.35 अंक यानी 0.49 प्रतिशत नीचे 15,239.10 अंक पर कारोबार कर रहा था।

सेंसेक्स की कंपनियों में नेस्ले इंडिया लगभग चार प्रतिशत की गिरावट के साथ सबसे अधिक नुकसान में रही। इसके बाद ओएनजीसी, एचडीएफसी, टीसीएस, पावरग्रिड और आईसीआईसीआई बैंक का स्थान रहा। वहीं, बजाज ऑटो, भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई), बजाज फाइनेंस और रिलायंस इंडस्ट्रीज बढ़त में रहीं।

कल गिरावट के साथ बंद हुआ शेयर बाजार
वैश्विक स्तर पर मिले-जुले रुख के बीच बीएसई सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी दोनों मंगलवार को मामूली गिरावट के साथ बंद हुए। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स सुबह के कारोबार में 52,516.76 के रिकार्ड स्तर पर पहुंच गया था। लेकिन अंत में यह 49.96 अंक यानी 0.10 प्रतिशत की मामूली गिरावट के साथ 52,104.17 अंक पर बंद हुआ। एनएसई निफ्टी 1.25 अंक यानी 0.01 प्रतिशत की हल्की गिरावट के साथ 15,313.45 अंक पर बंद हुआ। 

छोटी कंपनियों ने दिखाया तेजी का दम
विनोद मोदी ने कहा, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक और धातु कंपनियों के शेयर चमक में रहे। हालांकि वित्तीय, आईटी और दैनिक उपयोग का सामान बनाने वाली कंपनियों में बिकवाली दबाव रहा जिससे सेंसेक्स नीचे आया। मझोली और लघु कंपनियों के शेयर चमक में रहे। इसका कारण इस क्षेत्र की कंपनियों के बेहतर आय परिदृश्य को देखते हुए निवेशक आकर्षित हो रहे हैं।


 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here