रघुराम राजन ने आर्थिक सुस्ती के कारण बताए

0
179
244 Views

भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने मौजूदा आर्थिक सुस्‍ती के लिए सरकार को जिम्‍मेदार ठहराया है। उन्‍होंने कहा कि आर्थिक वृद्धि में नरमी का कारण मौजूदा सरकार का अर्थव्यवस्था पर ध्यान देने के बजाय अपने राजनीतिक और सामाजिक एजेंडे को पूरा करने पर अधिक जोर देना है।

राजन ने कहा कि भारत प्रमुख क्षेत्रों पर ध्यान देकर सुस्त पड़ती आर्थिक वृद्धि को पटरी पर ला सकता है। यह पूछे जाने पर कि भारत की आर्थिक वृद्धि को कौन सी चीज रोक रही है, उन्‍होंने कहा, ”यह दु:खद कहानी है. मुझे लगता है कि यह राजनीति है।”

ब्लूमबर्ग टीवी को दिए साक्षात्कार में राजन ने कहा कि दुर्भाग्य से मौजूदा सरकार ने पिछले साल आम चुनाव में भारी जीत के बाद आर्थिक वृद्धि पर ध्यान देने के बजाय अपने राजनीतिक और सामाजिक एजेंडे को पूरा करने पर अधिक जोर दिया है।
राजन ने कहा, ”दुर्भाग्य से इस प्रवृत्ति के कारण वृद्धि की गति धीमी हुई है। इसका कारण सरकार की ओर से शुरू में उठाए गए कुछ कदम भी हैं जिसमें नोटबंदी और खराब तरीके से लागू वस्‍तु एवं सेवाकर (जीएसटी) का सुधार शामिल हैं।”

आधिकारिक आंकड़े के अनुसार, भारत की आर्थिक वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष की अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 4.7 फीसदी रही जो करीब सात साल का न्यूनतम स्तर है। वृद्धि दर का यह आंकड़ा 2012-13 की जनवरी-मार्च तिमाही के बाद सबसे कम है।
बातचीत में राजन ने कहा कि भारत ने वित्तीय क्षेत्र की समस्या को दूर करने के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाए और दुर्भाग्य से इसके कारण वृद्धि में नरमी आ रही है। उनके इस साक्षात्कार का प्रसारण जीडीपी आंकड़ा आने से पहले किया गया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here