रिजर्व बैंक ने लेखा वर्ष को वित्तिय वर्ष के साथ शुरू करने की की गुजारिश

0
219
331 Views

रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया ने 1 जुलाई से शुरू हो रहे केंद्रीय बैंक के लेखा वर्ष (अकाउंटिंग इयर ) को बदलकर 1 अप्रेल से शुरू होने वाले वित्तीय वर्ष (फाइनेंशियल इयर) के समान करने की गुजारिश की है। शनिवार को आरबीआई की तरफ से जारी आधिकारिक बयान में कहा गया कि “आरबीआई के बोर्ड ने 2020-21 से ही इस व्यवस्था को लागू करने की मांग की है।”

आरबीआई के केंद्रीय निदेशक मंडल की 582 वीं बैठक में अकाउंटिंग इयर को फाइनेंशियल इयर के साथ शुरू करने के तमाम पहलुओं पर चर्चा की गयी। बैठक में देश की आर्थिक स्थिति, घरेलू और वैश्विक चुनौतियों के साथ रिजर्व बैंक के काम-काज की समीक्षा भी की गई थी। बोर्ड ने 2020-21 से ही आरबीआई के फाइनेंशियल इयर (जुलाई से जून तक) को सरकार के फाइनेंशियल इयर (अप्रैल से मार्च तक) के साथ शुरू करने की सिफारिश की। बोर्ड ने इसका प्रस्ताव सरकार को भी भेज दिया है।
मंत्री निर्मला सीतारमण बोर्ड की बैठक को संबोधित करते हुए यह कहा कि “केंद्रीय बजट 2020-21 को लेकर सरकार के नजरिए और विकास योजनाओं पर फोकस के बारे में जानकारी दी। ” उन्होंने आरबीआई और सरकार के बीच नीतिगत सामंजस्य बनाने पर भी जोर दिया, ताकि अर्थव्यवस्था की ग्रोथ से जुड़ी चिंताओं को दूर किया जा सके। बजट को बेहतर बताते हुए बोर्ड के सदस्यों ने सरकार को कई सुझाव दिए और सरकार से उन पर विचार करने की अपील की।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here