वक्री शनि की पूर्ण सप्तम दृष्टि सूर्य पर, 25 जुलाई तक इन बड़े ग्रहों की चाल में होगा परिवर्तन

0
263
353 Views

जुलाई का महीना ग्रह-नक्षत्रों के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण है। 25 जुलाई तक कई ग्रहों का राशि परिवर्तन होना है। इस दौरान मंगल, बुध और शुक्र एक राशि से दूसरी राशि में गोचर करेंगे। जन्म कुंडली में ग्रहों के उच्च भाव में गोचर से जातक को राशि परिवर्तन का फायदा मिलेगा, जबकि कमजोर भाव में उन्हें कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

वक्री शनि की पूर्ण सप्तम दृष्टि-

ज्योतिष शास्त्र में शनि को महत्वपूर्ण ग्रह माना गया है। शनि भी अपने राशि परिवर्तन और चाल से सभी 12 राशियों पर प्रभाव डालता है। वर्तमान में शनि मकर राशि में वक्री हैं। वक्री शनि की पूर्ण सप्तम दृष्टि सूर्य पर पड़ेगी। इस प्रभाव से 20 जुलाई से संतुलित वर्षा हो सकती है।

मंगल का सिंह राशि में प्रवेश-

कर्क राशि में मंगल 20 जुलाई को प्रवेश करेंगे। मंगल 6 सितंबर तक सिंह राशि में ही विराजमान रहेंगे। मंगल को ज्योतिष में विशेष स्थान दिया जाता है। मंगल सभी ग्रहों के सेनापति हैं। मंगल के शुभ प्रभावों से जहां व्यक्ति का भाग्य बदल जाता है। मंगल राशि परिवर्तन के दौरान मेष, कर्क और मीन राशि वालों को सावधान रहने की जरूरत है।

बुध का कर्क राशि में गोचर-

बुध 25 जुलाई को मिथुन से कर्क राशि में गोचर करेंगे। बुध का गुरु के साथ मिलकर षड़ाष्टक योग बनेंगे। इस प्रभाव से शिक्षा और अध्यात्म के क्षेत्र में प्रगति हो सकती है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here