Home आज खास सूक्ष्म कर्ज कारोबार में 10 फीसदी की बढ़ोत्तरी

सूक्ष्म कर्ज कारोबार में 10 फीसदी की बढ़ोत्तरी

0
265
380 Views

माइक्रो फाइनेंस यानी छोटी राशि के कर्ज देने वाली संस्थाओं और इकाइयों द्वारा दिया गया कुल लोन 31 दिसंबर, 2020 की स्थिति के अनुसार सालाना आधार पर 10.1 प्रतिशत बढ़कर 2,32,648 करोड़ रुपये पहुंच गया।

इन इकाइयों के मंच माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूशन नेटवर्क (एमएफआईएन) के अनुसार इस इंडस्ट्री का सकल ऋण पोर्टफोलियो दिसंबर 2019 में 2,11,302 करोड़ रुपये था। निकाय ने कहा कि 14 बैंकों की सूक्ष्म यानी छोटे कर्ज में हिस्सेदारी सर्वाधिक है। उनका इस मद में दिसंबर के अंत में कुल बकाया कर्ज 97,956 करोड़ रुपये रहा। उसके बाद गैर-बैंकिंग वित्तीय संस्थानों (एनबीएफसी-एमएफआई) का स्थान है, जिनका बकाया कर्ज 72,128 करोड़ रुपये है। लघु वित्त बैंकों का इस मद में कुल बकाया कर्ज 39,062 करोड़ रुपये रहा। 

उद्योग संगठन की सूक्ष्म वित्त के बारे में 2020-21 की तीसरी तिमाही की रिपोर्ट के अनुसार दिसंबर 2020 को समाप्त तिमाही में सूक्ष्म वित्त उद्योग के कर्ज वितरण में 3.86 प्रतिशत की गिरावट आई और दिसंबर 2020 के अंत में यह 59,507 करोड़ रुपये रहा। एक साल पहले इसी तिमाही के अंत में यह राशि 61,894 करोड़ रुपये थी। तिमाही-दर-तिमाही आधार पर दिसंबर 2020 को समाप्त तिमाही में सूक्ष्म कर्ज वितरण में 90.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी है। एमएफआईएन से 58 एनबीएफसी-एमएफआई और बैंक, लघु वित्त बैंक तथा एनबीएफसी समेत 38 वित्तीय संस्थान जुड़े हैं।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

%d bloggers like this: