सेंसेक्स 880 अंक लुढ़कने के बाद संभला, निफ्टी में भी अब हरे निशान पर

0
52
79 Views

भारी गिरावट के बाद शेयर बाजार अब संभलता हुआ नजर आ रहा है। निचले स्तर से सेंसेक्स में अब करीब 1000 अंकों की रिकवरी हो चुकी है। सेंसेक्स अब  127.79 अंक ऊपर 60,112.49  के स्तर पर तो निफ्टी 55.25 (0.31%) अंकों की बढ़त के साथ 17,912.50 के स्तर पर है।

10:12 बजे: शेयर बाजार में नीचे से शानदार रिकवरी दिख रही है। सेंसेक्स नीचे से करीब 700 अंक चढ़ा है। वहीं, निफ्टी करीब 200 प्वाइंट चढ़ा है। फिलहाल सेंसेक्स 139.86 की कमजोरी के साथ 59,844.84  के आसपास है। वहीं, निफ्टी 32 अंक की गिरावट के साथ 17,824 के स्तर पर दिख रहा है।

9:15 बजे: शेयर बाजार की शुरुआत सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को  भी कमजोर रही। सेंसेक्स 127 अंक टूटकर 59,857.33 के स्तर पर खुला तो निफ्टी 17,833.05 पर। बाजार खुलने के कुछ मिनट में  बिकवाली के दबाव में सेंसेक्स 880 अंक लुढ़ककर 59,104 पर आ गया। निफ्टी भी इससे अछूता नहीं रहा और 202.75 अंकों की गिरावट के साथ 17,654.50 के स्तर पर आ गया।

कारोबार के शुरुआत में निफ्टी टॉप गेनर में अडानी पोर्ट्स,टाटा स्टील, जेएसडब्ल्यू स्टील, डिविस लैब और सिप्ला हरे निशान पर थे। वहीं, एनटीपीसी, इंडसइंड बैंक, सनफार्मा, एचडीएफसी, स्टेट बैंक टॉप-5 लूजर थे।

गुरुवार का हाल

भारतीय शेयर बाजार में जबरदस्त मुनाफावसूली और महीने के अंत में वायदा एवं विकल्प सौदे का निपटान होने से गुरुवार को शेयर बाजार डेढ़ माह के निचले स्तर तक लुढ़क गया। बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1158.63 अंक का गोता लगाकर लगभग डेढ़ माह के निचले स्तर 60 हजार अंक के नीचे 59,984.7016 अंक पर आ गया। इससे पहले 16 सितंबर को यह पहली बार 59 हजार अंक के पार 59141.16 अंक पर पहुंचा था। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का नफ्टिी 353.70 अंक टूटकर 18 हजार अंक के नीचे 17,857.25 अंक पर रहा।

दिग्गिज कंपनियों की तरह छोटी और मझौली कंपनियों में भी मुनाफावसूली हुई। इस दौरान बीएसई का मिडकैप 354.27 अंक गिरकर 25,236.28 अंक और स्मॉलकैप 444.48 अंक टूटकर 28,089.97 अंक पर रहा। बीएसई में कुल 3405 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें से 2295 लुढ़क गये जबकि 985 में तेजी रही वहीं 125 के भाव स्थिर रहे। इसी तरह एनएसई में 44 कंपनियों के शेयर भाव गिर गये जबकि केवल छह चढ़ने में कामयाब रहे

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here