100 साल पुराना बंगला बिका 400 करोड़ में :खरीददार आदनी ग्रुप

0
265
449 Views

 एक आम आदमी का सबसे खास सपना होता है कि वो अपने और परिवार के लिए घर बनाए। इसके लिए वो लोन लेता है। उसके बाद खूब मेहनत करता लोन चुकाता है। वहीं जिस घर को खरीदने के लिए अदानी से लेकर नारायणमूर्ति, डालमिया और हैवल्स ग्रुप के मालिक होड़ में लगे हों, वो घर जरूर ही खास होगा।
जी हां, ऐसे ही एक घर की बोली लगी थी। जिसे अदानी ग्रुप ने अपने नाम किया। करीब 100 साल पुराने इस घर को अदानी ग्रुप ने 400 करोड़ रुपए में खरीदा। यह घर और कहीं नहीं बल्कि देश की राजधानी दिल्ली के अल्ट्रा पॉश इलाके में है। आइए आपको भी बताते हैं कि इस घर की खासियत के बारे में। साथ यह भी बताते हैं कि इस घर के इतिहास के बारे में…
 एक आम आदमी का सबसे खास सपना होता है कि वो अपने और परिवार के लिए घर बनाए। इसके लिए वो लोन लेता है। उसके बाद खूब मेहनत करता लोन चुकाता है। वहीं जिस घर को खरीदने के लिए अदानी से लेकर नारायणमूर्ति, डालमिया और हैवल्स ग्रुप के मालिक होड़ में लगे हों, वो घर जरूर ही खास होगा।
जी हां, ऐसे ही एक घर की बोली लगी थी। जिसे अदानी ग्रुप ने अपने नाम किया। करीब 100 साल पुराने इस घर को अदानी ग्रुप ने 400 करोड़ रुपए में खरीदा। यह घर और कहीं नहीं बल्कि देश की राजधानी दिल्ली के अल्ट्रा पॉश इलाके में है। आइए आपको भी बताते हैं कि इस घर की खासियत के बारे में। साथ यह भी बताते हैं कि इस घर के इतिहास के बारे में…
 एक आम आदमी का सबसे खास सपना होता है कि वो अपने और परिवार के लिए घर बनाए। इसके लिए वो लोन लेता है। उसके बाद खूब मेहनत करता लोन चुकाता है। वहीं जिस घर को खरीदने के लिए अदानी से लेकर नारायणमूर्ति, डालमिया और हैवल्स ग्रुप के मालिक होड़ में लगे हों, वो घर जरूर ही खास होगा।
जी हां, ऐसे ही एक घर की बोली लगी थी। जिसे अदानी ग्रुप ने अपने नाम किया। करीब 100 साल पुराने इस घर को अदानी ग्रुप ने 400 करोड़ रुपए में खरीदा। यह घर और कहीं नहीं बल्कि देश की राजधानी दिल्ली के अल्ट्रा पॉश इलाके में है। आइए आपको भी बताते हैं कि इस घर की खासियत के बारे में। साथ यह भी बताते हैं कि इस घर के इतिहास के बारे में…
ऐसे मिला अदानी को बंगला
एक अंग्रेजी मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह बंगला दिल्ली के लुटियंस जोन इलाके के भगवान दास रोड पर स्थित है। वास्तव में यह बंगला पहले आदित्य एस्टेट्स प्राइवेट लिमिटेड के पास था। आदित्य एस्टेट्स पर दिवालिया प्रकिया शुरू हुई और इसके तहत देश के कुछ नामी ग्रुप और उद्योगपति बोली लगाने के लिए कतार में आ गए। आते भी क्यों जगह और बंगले की खासियत ने सभी को मोह जो लिया था। लेकिन बाजी मारी अदानी ग्रुप ने।
400 करोड़ रुपए की बोली लगाकर ग्रुप ने इस बंगले को अपने नाम कर लिया। आदित्य एस्टेट्स ने कुछ वर्षों पहले इस बंगले की कीमत 1,000 करोड़ रुपए से भी ज्यादा आंकी थी। नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल एनसीएलटी ने 14 फरवरी को अदाणी ग्रुप की कंपनी अदानी प्रॉपर्टीज प्राइवेट लिमिटेड के प्रस्ताव को मंजूरी दी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here