Google Maps पर आ रहा है खास फीचर, यात्रा से पहले ही पता चल जाएगा की कितना देना होगा Toll Tax

0
151
248 Views

गूगल मैप्स (Google Maps) एक दिलचस्प अपडेट पर काम कर रहा है जो यूजर्स को अपनी ट्रिप को बेहतर तरीके से प्लान करने में मदद करेगा। रिपोर्ट्स बताती हैं कि मैपिंग ऐप अब आपको बताएगा कि किन सड़कों पर टोल गेट हैं और आपको टोल टैक्स के रूप में कितना पेमेंट करना होगा। इससे आपको यह चुनने में मदद मिलेगी कि आपको टोल गेट वाली सड़क पर जाना है या नहीं। रिपोर्ट्स की माने तो यह फीचर शुरुआती चरण में है, और यह अनुमान लगाना जल्दबाजी होगी कि यह फीचर सभी देशों में उपलब्ध होगा या नहीं।

Google Map का नया फीचर इस तरह होगा आपके लिए फायदेमंद
आने वाला गूगल मैप्स फीचर यूजर्स के लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है। अक्सर जब आप किसी यात्रा पर निकलते हैं, तो रास्ते में बहुत सारे टोल गेट देखकर आप हैरान रह जाते हैं। इसलिए यदि Google Map आपको पहले ही इस बारे में जानकारी दे देगा कि कुल टोल कितना खर्च होगा और आपके रास्ते में कितने टोल गेट आएंगे, तो आप आसानी से तय कर सकते हैं कि आप टोल गेटों से जाना चाहते हैं या पैसे बचाने के लिए कोई दूसरा रास्ता लेना चाहते हैं। इसके साथ ही गूगल का यह नया फीचर उपयोगकर्ताओं को समय बचाने में भी मदद कर सकता है।

Google ने इस अपकमिंग फीचर के बारे में कोई भी आधिकारिक जानकारी शेयर नहीं की है, एक एंड्रॉयड पुलिस रिपोर्ट में कहा गया है कि Google मैप्स प्रीव्यू प्रोग्राम के मेंबर्स को आगामी फीचर के बारे में एक मैसेज भेजा गया था जो रोड, ब्रिज और अन्य “महंगे एडिशन” पर टोल के लिए कीमतों को प्रदर्शित करेगा वो भी आपके नेविगेशन रूट के लिए। Google Maps प्रीव्यू प्रोग्राम ने पुष्टि की है कि, कुल टोल टैक्स आपके ऐप पर आ जाएगा। ये यूजर्स को रूट सेलेक्ट करने से पहले ही दिख जाएगा।

ये एक ऐसा फीचर है जिसे गूगल मैप्स Waze ऐप से ले रहा है। कंपनी ने साल 2013 में इसे अधिकृत किया था। वेज ऐप आपको टोल प्लाजा की जानकारी देता है। ऐप ने तीन साल पहले ही टोल टैक्स की पूरी जानकारी देनी शुरू कर दी थी। वेज मैपिंग फीचर फिलहाल ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, चीली, कोलंबिया, डोमिनिकन रिपब्लिक, इजरायल, लाटविया, न्यूजीलैंड, पेरु, पोलैंड, स्पेन, अमेरिका और बाकी के देश शामिल है। इसके साथ ही यह स्पष्ट नहीं है कि Google इस सुविधा को कैसे लागू करने की योजना बना रहा है। रिपोर्ट्स में यह नहीं बताया गया है कि क्या Google इस फीचर को केवल यूएस में शुरू करेगा या भारत में भी इस फीचर को लॉन्च करने की उसकी योजना है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here