International Yoga Day 2021: योग के लिए बिस्तर छोड़ते हुए आता है आलस, बेड पर लेटकर ही करें ये 5 योगासन

0
311
430 Views

Yoga For Lazy People: आज दुनियाभर में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। यह खास दिन हर साल 21 जून को योग के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए मनाया जाता है। लेकिन आप अगर उन लोगों में से हैं जो वक्त की कमी या आलस की वजह से सुबह उठकर योग नहीं कर पाते हैं, तो आप अपने बेड पर लेटे हुए भी ये 5 योग कर सकते हैं। इन्हें करने से आप न सिर्फ दिनभर चुस्त दुरुस्त महसूस करेंगे बल्कि आपकी फिटनेस भी बनी रहेगी।

बिस्तर पर लेटकर करें ये 5 योगासन-

त्स्यासन-
मृत्स्यासन को करने के लिए सबसे पहले पीठ के बल सीधे लेट जाएं। फिर चेस्ट और नेक को ऊपर की तरफ खींचे। सीने का बल हाथ की कोहनियों पर टिकाते हुए हाथ के पंजो को हिप्स के नीचे दबा लें। इस पोज को आप एक बार में 3 से 4 बार से अधिक ना करें। इस आसन को करते समय इस बात का ध्यान रखें कि आपको गर्दन में दिक्कत ना हो जाए। इसलिए शुरुआत में ही अपने साथ जबरदस्ती ना करें। जितना पोज बन सके उतना करें। 

लाभ-
यह आसन आपके गले, कंधे, सिर और स्वांस नली को ठीक रखने का काम करता है। साथ ही जल्दी से गले से संबंधित रोग आपको अपना शिकार नहीं बना पाते हैं। यह आसन आपके शरीर के निचले हिस्से को टोन करने में मदद करता है।

लेग-अप द वॉल-पोज-
इस आसन को करते समय आप पीठ के बल लेटे हुए दीवार पर पैर टिका लें। कमर तक का ऊपरी हिस्सा बेड पर रहेगा और हिप्स समेत पैर दीवार को छूएंगे। इस मुद्रा में 5-7 मिनट तक रहा जा सकता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले अपने पैर दीवार के सहारे ऊपर की तरफ एकदम सीधे कर लें। अपने हिप्स एरिया को दीवार से सटाने का प्रयास करें। अब अपने हाथ रिलैक्सिंग पोजिशन में सिर के दोनों तरफ रखकर लेट जाएं।

लाभ-
यह आसन करने से ब्लड फ्लो सिर की तरफ बढ़कर आपका तनाव दूर करने में सहायता करता है। इसे करने से दिमाग को शांति मिलती है। साथ ही वॉक की कमी के कारण होने वाले पैर के दर्द में भी आपको राहत मिलती है। 

सुबह उठने के बाद अगर आपको महसूस हो कि शरीर में आपके बिल्कुल ऐनर्जी नहीं है तो बिस्तर से उठने के पहले ही ये आसन कर लें। इससे आपका ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होगा और आप ऐनर्जेटिक फील करेंगे। 

पश्चिमोत्तानासन-
पश्चिमोत्तानासन को इंग्लिश में ‘फॉर्वर्ड बैंड पोज’ कहते हैं। इस आसन को करने के लिए आप सबसे पहले सुखासन में बैठ जाएं। अब दोनों पैरों को सामने की तरफ फैला लें। पैरों के बीच कुछ दूरी बनाकर रिलैक्स पॉजिशन में बैठ जाएं। अब अपने हाथों को ऊपर की तरफ ले जाते हुए शरीर को स्ट्रेच करें। फिर सांस छोड़ते हुए आगे की तरफ झुकें और अपनी हथेलियों को पैरों के बराबर में बेड पर फ्लैट करके रख लें। इस स्थिति में जितनी देर भी आप बैठे रह सकते हैं, बैठे रहें और फिर सांस भरते हुए हाथों को ऊपर की तरफ ले आएं। इस प्रक्रिया को आप एक बार में 3 से 4 बार दोहरा सकते हैं।

नौकाचालासन-
इस आसन को करने के लिए भी आपको पैर फैलाकर बैठना है। अब पैरों की तरफ झुकते हुए अपने दोनों हाथों को इस तरह आगे की तरफ लेकर जाएं और फिर पीछे की तरफ लेकर आएं, जैसे आप नाव चला रहे हों। ध्यान रखें आपको जितना आगे की तरफ झुकना है, प्रयास करना है कि उतना ही पीछे की तरफ भी जाएं। इसलिए अपने बैठने की पोजिशन का ध्यान रखें और संतुलन ना बिगड़ने दें। इस आसन को एक बार में 1 से 2 मिनट ही करें।

लाभ-
इस आसन को करने से आपके लोअर पोर्शन का फैट कम करने में सहायता होगी।  

सेतुबंधासन – 
इस आसान को आप बेड पर पीठ के बल लेटकर बड़ी आसानी से कर सकते हैं। इसे करने के लिए लेटे लेटे अपने हाथों को शरीर के बगल में सटाकर रखें,  हथेली जमीन की तरफ हो और दोनों बाजू सीधी रहें। अब अपने दोनों पैरों के घुटने को इस तरह मोड़े की पैर के तलवे जमीन से लग जाएं। इसके पश्चात सांस ले, कुछ पल के लिए सांस रोकें और धीरे-धीरे कमर को जमीन से ऊपर उठाने की कोशिश करे| आपको कमर को इतना ऊपर उठाना है कि छाती ठुड्डी को छूने लगे। कुछ सेकेंड तक रुकें फिर सामान्य स्थिति में लौट आएं।

लाभ-
अगर आपकी कमर में अक्सर दर्द रहता है तो ये आसन आपके लिए काफी मददगार साबित हो सकता है। इस आसन का असर रीढ़ की हड्डी और पूरे तंत्रिका तंत्र पर पड़ता है। साथ ही आपका मेटाबॉलिज्म भी तेज़ होता है। इस आर्टिकल को शेयर करें

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here