October 1 is celebrated as World Vegetarian Day

0
369
525 Views

Photo courtesy : https://techgohindi.com

Vegetarian food leaves a deep impression on our nature. If the whole world adopts vegetarianism, it can change the destiny of humankind—Albert Einstein

1 अक्टूबर को दुनिया भर के लोगों द्वारा विश्व शाकाहारी दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन की स्थापना उत्तरी अमेरिकी शाकाहारी समाज द्वारा 1977 में एक शाकाहारी जीवन शैली को बढ़ावा देने और लोगों को शाकाहारी आहार खाने के लाभों के बारे में जागरूक करने के लिए की गई थी।

विश्व शाकाहारी दिवस का इतिहास

विश्व शाकाहारी दिवस पहली बार 1977 में उत्तरी अमेरिकी शाकाहारी सोसायटी द्वारा शुरू किया गया था और 1978 में अंतर्राष्ट्रीय शाकाहारी संघ द्वारा इसका समर्थन किया गया था। इसका मुख्य उद्देश्य था, “शाकाहार के आनंद, करुणा और जीवन को बढ़ाने वाली संभावनाओं को बढ़ावा देना।” यह शाकाहारी जीवन शैली के मानवीय लाभों के बारे में जागरूकता लाने के लिए शुरू किया गया था।


आयुर्वेद में शाकाहार को उत्तम माना गया है,भारत में तो शाकाहार हमेशा से अपनाया गया है पर आज भारत के साथ पूरा विश्व इस बात को मानने लगा है कि शाकाहार ही श्रेष्ठ भोजन है।
यह दिन शाकाहारी भोजन को बढ़ावा देने के लिए समर्पित है। मांसाहारी भोजन की तुलना में शाकाहारी भोजन पर्यावरण के अनुकूल, किफायती और स्वास्थ्यवर्धक है। शाकाहारी भोजन से शरीर में अतिरिक्त वसा नहीं बढ़ती है और हृदय रोगों का खतरा कम होता है। इसमें मौजूद फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट कैंसर से लड़ सकते हैं।
शाकाहार के सामाजिक, स्वास्थ्य और पर्यावरणीय लाभों के बारे में जागरूक करने के लिए यह दिन मनाया जाता है। शाकाहारी आहार जिसे vegan diet के नाम से भी जाना जाता है बहुत पौष्टिक होते हैं, और कई बीमारियों की रोकथाम और उपचार में स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं।

हर साल हजारों लोग स्वस्थ जीवन जीने के लिए शाकाहार को अपना रहे हैं। एक ओर जहां शाकाहारी भोजन हमें स्वास्थ लाभ देता है वहीं दूसरी ओर जानवरों के प्रति क्रूरता को भी रोकता है। विश्व शाकाहारी दिवस को मांसाहारी आहार का अंत करने के लिए मनाया जाता है।

शाकाहारी भोजन के लाभ

हृदय रोगों के जोखिम को कम करता है:

लाल मांस का सेवन करने से हृदय अस्वस्थ होता है। जबकि, फलों और सब्जियों का सेवन उस जोखिम को कम करता है। यदि आप शाकाहारी भोजन लेते हैं, तो हृदय रोगों के कारण अस्पताल में भर्ती होने का जोखिम 32% कम हो जाता है.

शाकाहारी भोजन मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली बनाने में मदद करता है: यह आहार पोषक तत्वों और प्रोटीन से भरा होता है जो प्रतिरक्षा को बढ़ाने में मदद करता है।, विश्व स्वास्थ्य संगठन कहता है कि 70 प्रतिशत वैश्विक रोग जानवरों के माध्यम से होते हैं।

शाकाहार डायबिटीज के खतरे को कम करता है:

प्लांट-आधारित आहार टाइप 2 डायबिटीज को प्रबंधित करने में मदद करता है। कई तरह के शोधों में यह साबित हो चुका है कि अगर आप हृदय रोग, कैंसर जैसी बीमारियों के खतरे को कम करना चाहते हैं, तो शाकाहारी भोजन लें। भोजन में फल और सब्जियों की संख्या बढ़ाएँ।
ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में हुए शोध के अनुसार, यदि आप आहार में लाल मांस नहीं लेते हैं, तो कोलन कैंसर का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।

वायरल संक्रमण के जोखिम को कम करता है:
संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन द्वारा 2013 की एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया भर में 90% से अधिक मांस खेतों से आता है। इन खेतों में, जानवरों को टिज़ी में रखा जाता है, और सफाई का ध्यान नहीं रखा जाता है। इसकी वजह से वायरल बीमारियों के फैलने का खतरा बढ़ जाता है।

शाकाहारी भोजन आपको मांसाहारी भोजन से अधिक स्वस्थ रखता है, इस बात को शोध ने भी साबित किया है। अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन में प्रकाशित शोध कहता है कि यदि आप हृदय रोग के जोखिम को कम करना चाहते हैं, तो शाकाहारी भोजन खाएं। यह शोध इंग्लैंड और स्कॉटलैंड के 44,561 लोगों पर किया गया था। यह पाया गया कि मांसाहारी लोगों की तुलना में जो शाकाहारी भोजन ले रहे थे,उनकी हृदय रोगों के कारण अस्पताल में भर्ती होने की संभावना 32% कम है। उनमें कोलेस्ट्रॉल का स्तर और रक्तचाप दोनों कम थे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here