OIC की बैठक में कश्मीर को लेकर क्या-क्या कहा गया है

0
42
80 Views

ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कॉर्पोरेशन (OIC) की बैठक पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में खत्म हुई है। इस बैठक में पाकिस्तान ने जमकर कश्मीर को घसीटने की कोशिश की है। इस बैठक में कश्मीर को लेकर एक डिक्लेरेशन भी जारी किया गया है। आइए जानते हैं कि कश्मीर को लेकर इस्लामाबाद डिक्लेरेशन में क्या कहा गया है।

कश्मीरी लोगों के साथ एकजुटता की बात

डिक्लेरेशन में OIC के सदस्य देशों ने कहा है कि हम जम्मू और कश्मीर के लोगों के साथ अटूट एकजुटता को नवीनीकृत करते हैं और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) और OIC के प्रासंगिक प्रस्तावों के अनुसार आत्मनिर्णय के उनके अटूट अधिकार के लिए पूर्ण समर्थन व्यक्त करते हैं। 

आर्टिकल 370 हटाए जाने पर उठाए सवाल

भारत की निंदा करते हुए कहा गया है कि हम भारत के अवैध रूप से कब्जे वाले जम्मू और कश्मीर में मानवाधिकारों के बड़े पैमाने पर उल्लंघन की निंदा करते हैं। हम 5 अगस्त 2019 से कब्जे वाले क्षेत्र की जनसांख्यिकीय संरचना को बदलने के मकसद से भारत की अवैध और एकतरफा कार्रवाइयों की अस्वीकृति को दोहराते हैं। कहा गया है कि UNSC के प्रस्तावों के मुताबिक जम्मू और कश्मीर विवाद का अंतिम समाधान दक्षिण एशिया में स्थायी शांति के लिए अपरिहार्य है।

मिसाइल मसले पर भी भारत को घेरने की कोशिश

OIC देशों ने कहा है कि हम भारत द्वारा 9 मार्च 2022 को सुपरसोनिक मिसाइल के प्रक्षेपण से उत्पन्न होने वाले हवाई क्षेत्र के उल्लंघन, यात्री विमानों के लिए खतरा और दक्षिण एशिया में शांति और सुरक्षा के लिए खतरे पर गंभीर चिंता जताते हैं। हम भारत से अंतरराष्ट्रीय कानून और जिम्मेदार देशों की तरह व्यवहार के मानदंडों का पूरी तरह से पालन करने और तथ्यों को सटीक रूप से स्थापित करने के लिए पाकिस्तान के साथ संयुक्त जांच करने की अपील करते हैं।

भारत सरकार ने कब तक इस पूरे मसले पर कुछ नहीं कहा है। हालांकि विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने चीनी विदेश मंत्री वांग यी द्वारा कश्मीर को लेकर दिए गए बयान पर अपनी बता रखी है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here