ईएलजीआई की एबी ‘ऑलवेज बेटर’ सीरीज ने भारतीय दवा उद्योग को सशक्‍त बनाया

0
413
550 Views

  • भारत की प्रमुख दवा कंपनियां, महत्वपूर्ण प्रक्रियाओं के लिए ईएलजीआई एबी सीरीज़ के ऑयल फ्री स्क्रू एयर कम्प्रेसर पर भरोसा करती हैं।
  • एबी सीरीज़ प्रमाणित क्लास ‘0’ वाली, 100% ऑयल-फ्री कम्‍प्रेस्‍ड हवा प्रदान करती है।

Text Box: एबी सीरीज 
¤	संवेदनशील उद्योगों में काम आने वाली क्‍लास ‘0’ प्रमाणित शुद्ध हवा।
¤	कम जीवन चक्र के साथ बिना किसी समझौते के ऑयल-फ्री समाधान
¤	सर्वश्रेष्‍ठ परफॉरमेंस, सिंगल-स्‍टेज संचालन और कम संचालन गति के साथ दक्षता वाले रोटार के कारण रखरखाव की कम लागत।
¤	बेहतर भरोसा और मन की शांति

इंडिया 2020: भारत की प्रमुख दवा कंपनियां, शुद्ध, स्वच्छ, क्‍लास “0” की ऑयल-फ्री हवा के लिए ईएलजीआई एबी सीरीज़ के ऑयल-फ्री स्क्रू कम्‍प्रेसर पर भरोसा करती हैं। ये ऑयल-फ्री स्क्रू कम्‍प्रेसर काफी विश्‍वसनीय हैं और अधिक भरोसेमंद और स्‍थिर गुणवत्ता वाली हवा प्रदान करते हैं। इसके अन्‍य फायदों में निवेश पर बेहतर लाभ और कम स्वामित्व लागत है। ये कम्‍प्रेसर +3 डिग्री सेल्सियस से -20 डिग्री सेल्सियस पीडीपी के बीच की नमी वाली सामग्री के साथ नाजुक कामों के लिए प्रभावकारी सेवा देते हैं, और आईएसओ 8573-1 के अनुपालन संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करते हैं। इसके अलावा, ईएलजीआई एबी सीरीज़ ISO8573-क्‍लास 7 के अनुपालन मानदंडों के अनुरूप बेजोड़ वायु गुणवत्ता प्रदान करती है जिसकी वजह से सूक्ष्‍म कीटाणुओं से दूषित होने की कोई संभावना नहीं होती है। पानी की गुणवत्ता के लिए आईएस: 10500: 202 प्रमाणन के साथ, एबी सीरीज दवा उद्योग के लिए सबसे सुरक्षित न्‍यूमेटिक हवा की गारंटी भी देती है। ग्राहकों के लिए आकर्षक मूल्य प्रस्ताव के साथ, ईएलजीआई एबी सीरीज़ के परफॉरमेंस के कारण भारत की प्रमुख दवा कंपनियां मौजूदा मशीनों की जगह एबी सीरीज लगा रही हैं, और इसके सफल इंस्टालेशन ने पूरे क्षेत्र में दवा कंपनियों को प्रेरित किया है, ताकि वे अपने एयर कम्प्रेसर को फिर से स्‍थापित करें।

अनुमान है कि 2025 तक भारत का दवा उद्योग 22.4% प्रति वर्ष के आधार पर वृद्धि करते हुए 100 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंच जायेगा, और वैक्‍सीन की 50% वैश्विक मांग, अमेरिका में जेनरिक की 40 % मांग और यूके में सभी दवाओं की 25 % मांग को पूरा करेगा। ईएलजीआई इक्विपमेंट्स लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेकटर डॉ. जयराम वरदराज ने बताया कि ‘‘वैश्‍विक महामारी को देखते हुए, भारत के दवा उद्योग के पास वैश्विक स्वास्थ्य सेवा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने का शानदार अवसर है। एफडीए की बढ़ती जांच, विषाक्त अशुद्धियों को लेकर सख्त चेतावनियों और दवा निर्माण की नाजुक प्रक्रियाओं को देखते हुए, उच्चतम मानकों को पूरा करने वाली कम्‍प्रेस्‍ड हवा सबसे अधिक महत्वपूर्ण है। इसके अलावा, लगातार हवा की सप्‍लाई की गारंटी देनी होगी, क्योंकि एक व्यवधान से उत्पादन को भारी नुकसान पहुंच सकता है। ईएलजीआई में, हमने दवा निर्माण उद्योग की जरूरतों को नए तरीके से पूरा करने का प्रयास किया। ऑयल-फ्री कम्‍प्रेस्‍ड एयर टेक्‍नोलॉजी में ईएलजीआई एबी ‘‘ऑलवेज बेटर’’ सीरीज एक बदलाव की तरह है, और संवेदनशील दवा कंपनियों के काम के लिए ग्राहक की पसंद के रूप में इसकी बढ़ती स्‍वीकार्यता को देखकर हमें खुशी है।’’

हवा की गुणवत्ता संबंधी सख्त जरूरतों को पूरा करने के लिए, फार्मास्युटिकल ग्राहक पारंपरिक रूप से, 500 सीएमएफ (90 किलोवाट) से कम की जरूरतों के लिए ऑयल-लुब्रिकेटेड कम्‍प्रेसर या स्वामित्व की कुल उच्च लागत के कारण, पारंपरिक ऑयल-फ्री कम्प्रेसर खरीदते हैं। लुब्रिकेटेड स्‍क्रू का उपयोग करने का दूसरा पहलू मल्टी-लेयर फिल्‍ट्रेशन सिस्टम है, जो प्रेशर ड्रॉप को बढ़ाता है और ऑयल फिल्टर के प्रतिस्थापन के कारण डाउनटाइम देता है यानी काम रोक देता है, जिससे जीवन चक्र की लागत बढ़ जाती है।  इसके अलावा, इस रेंज में पारंपरिक ऑयल-फ्री कम्‍प्रेसर आमतौर पर एयर-कूल्ड होते हैं और उच्च परिवेशीय तापमान स्थितियों (450 सेल्‍शियस से ऊपर) में विश्वसनीयता की समस्‍या पैदा करते हैं और तापमान में गिरावट लाते हैं, जिसके परिणामस्वरूप डाउनटाइम काफी अधिक होता है और संचालन संबंधी नुकसान होता है।

ईएलजीआई एबी सीरीज़ #ऑलवेज बेटर बेहतर विकल्प है और यह कम्प्रेशन चैंबर के अंदर पानी के इंजेक्शन के कारण दवा निर्माता ग्राहकों को विश्वसनीयता, 500 सेल्‍शियस से अधिक तापमान पर उच्च परफॉरमेंस का ऑफर प्रदान करती है। एबी सीरीज क्‍लास ‘0’ की गुणवत्ता वाली हवा प्रदान करती है, जबकि बंद सर्किट में पानी प्रोपराइटरी सामग्री से इंसुलेट किया जाता है ताकि क्षरण के कारण बिल्‍कुल दूषित न होना सुनिश्‍चित हो सके।

ईएलजीआई एबी सीरीज में अद्वितीय एयर कूलिंग सिस्टम है जो वायु कणों से पानी के पर्याप्त संघनन को सुनिश्चित करता है, जो बंद लूप में स्‍वयं पानी के फिर से भराव में मदद करता है। इससे बाहर से पानी के भराव की आवश्यकता नहीं रहती है और ड्रायर्स और जल प्रबंधन प्रणाली पर पड़ने वाले बोझ भी कम हो जाता है। इसमें पहले से ही बना हुआ माइक्रोबियल इनहिबिशन सिस्टम है, जो संचालन की सभी स्‍थितियों में सूक्ष्‍म कीटाणुओं की वृद्धि को रोकता है, जिससे ऐसी हवा मिलना सुनिश्चित होती है, जिसमें माइक्रोब नहीं होते।   

दोहरे एयरएंड से संचालित होने वाली पारंपरिक ऑयल फ्री मशीनों के विपरीत, ईएलजीआई एबी सीरीज़ सिंगल एयरएंड के साथ संचालित होती है, जिसका परिणाम कम फुट प्रिंट, कम रोटेटिंग कम्‍पोनेंट और कम रखरखाव लागत है। बेहतर परफॉरमेंस के लिए स्टेनलेस स्टील रोटार से सुसज्जित, प्रत्येक ईएलजीआई एबी सीरीज एयर कम्‍प्रेसर में मानक बीयरिंग होती है, जिससे रखरखाव में आसानी होती है। इसके अलावा, एबी सीरीज़ के स्क्रू कम आरपीएम पर काम करते हैं, जिसके परिणामस्वरूप घूमने वाले हिस्सों में घिसना और टूट-फूट कम होता है, कम शोर होता है और बिजली की खपत कम हो जाती है। इसके अलावा, कम शोर का स्तर सुनिश्चित करता है कि एबी सीरीज के लिए अलग से कम्प्रेसर रूम की जरूरत नहीं है और इसे एप्‍लिकेशन क्षेत्र के ठीक बगल में रखा जा सकता है, जिससे अतिरिक्त बुनियादी ढांचे और कम्‍प्रेस्‍ड एयर सप्‍लाई सिस्टम के निर्माण में शामिल लागत कम हो जाती है।

आईएसएएएमई (भारत, दक्षिण एशिया, अफ्रीका और मध्य-पूर्व) के डायरेक्‍टर श्री राजेश प्रेमचंद्रन ने कहा कि एबी सीरीज़, ऑयल-फ्री कम्‍प्रेस्‍ड एयर टेक्‍नोलॉजी में एक बदलाव है, जो मौजूदा ऑयल फ्री टेक्‍नोलॉजी के मुकाबले दवा निर्माता ग्राहकों को बिना कोई समझौता किए, कम जीवनचक्र लागत पर तेल-मुक्त समाधान पेश करता है। एबी सीरीज कम्प्रेसर के साथ, दवा कंपनियों को उच्च दक्षता, बढ़ी हुई विश्वसनीयता और निवेश पर जल्द लाभ के साथ शुद्ध कम्‍प्रेस्‍ड हवा मिलती है।”

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here