यह प्रण ले हर भारतीय इमानदारी से जो टैक्स बनता है वह देगा: पीएम नरेंद्र मोदी

0
249
405 Views

बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 न्यूज़ चैनल के सब्मिट को संबोधित करते हुए कहा कि जब बहुत सारे लोग कर नहीं देते, कर नहीं देने के तरीके खोज लेते हैं तो उसका भार उन लोगों पर पड़ता है जो इमानदारी से कर चुकाते हैं। इसलिए मैं आज प्रत्येक भारतीय से इस विषय में आत्ममंथन करने का आग्रह करूंगा। क्या उन्हें यह स्थिति स्वीकार है?
उन्होंने कहा कि पिछले 5 साल में देश में 1.5 करोड़ से ज्यादा कारों की बिक्री हुई है। 3 करोड़ से ज्यादा भारतीय कारोबार के काम से या घूमने के लिए विदेश गए है लेकिन स्थिति यह है कि 130 करोड़ से ज्यादा के हमारे देश में सिर्फ 1.5 करोड़ लोग ही आय कर देते हैं। उन्होंने कहा कि वह सभी देशवासियों से आग्रह करेंगे कि देश के लिए अपना जीवन समर्पित करने वालों को याद करते हुए इस बारे में संकल्प लें और प्रण ले की इमानदारी से जो टैक्स बनता है वह देंगे।
पीएम मोदी ने कहा कि एक नागरिक के तौर पर देश हमसे जिन कर्तव्यों को निभाने की अपेक्षा करता है वह जब पूरे होते है तो देश को भी नई ताकत और नई ऊर्जा मिलती है यही ऊर्जा नई ताकत भारत को इस दशक में भी नई ऊंचाइयों पर ले जाएगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज हम दुनिया के उन गिने-चुने देशों में शामिल हो गए हैं। जहां करदाताओं के अधिकारों को स्पष्टता से परिभाषित करने वाला करदाता चार्टर भी लागू होगा। सरकार के कामों और जिम्मेदारियों का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया का सबसे युवा देश अब तेजी से खेलने के मूड में है सिर्फ 8 महीने की सरकार ने फैसलों की जो सेंचुरी बनाई है वह अभूतपूर्व है भारत ने इतने तेजी से फैसले लिए है, इतनी तेजी से काम हुआ है। देश में हो रहे इन परिवर्तनों ने समाज के हर स्तर पर नई ऊर्जा का संचार किया है। उसे आत्मविश्वास से भर दिया है। आज देश के गरीब में यह आत्मविश्वास आ रहा है कि वह अपना जीवन का स्तर सुधार सकता है। अपनी गरीबी दूर कर सकता हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here