मजबूत शुरुआत के बाद लड़खड़ाया बाजार, सेंसेक्स 59250 के पार खुला

0
39
76 Views

शेयर बाजार की शुरुआत आज मजबूत रही। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स गुरुवार सुबह सवा नौ बजे 222 अंकों की मजबूती के साथ 59,256 के स्तर पर खुला। वहीं निफ्टी ने भी आज कारोबार की शुरुआत हरे निशान के साथ की। शुरुआती कारोबार में ही अडानी विल्मर और अडानी पावर में लोअर सर्किट लग गया।

RBI Monetary Policy के आने से पहले  शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स महज 11 अंकों के फायदे के साथ 59256 के स्तर पर आ गया।  वहीं, निफ्टी 0.30 अंकों की बढ़त के साथ 17639 पर कारोबार कर रहा था। शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स पर टाटा स्टील, टाइटन, डॉक्टर रेड्डी, रिलायंस, विप्रो, बजाज फिनसर्व, हिन्दुस्तान यूनीलिवर जैसे स्टॉक हरे निशान पर थे। वहीं, एक्सिस बैंक, बजाज फाइनेंस, सनफार्मा, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी, टेक महिंद्रा लाल निशान पर कारोबार कर रहे थे।

गुरुवार का हाल

घरेलू शेयर बाजारों में बृहस्पतिवार को लगातार तीसरे दिन गिरावट रही और बीएसई सेंसेक्स 575 अंक लुढ़क गया। वैश्विक बाजारों में कमजोर रुख के बीच सूचकांक में मजबूत हिस्सेदारी रखने वाले एचडीएफसी लि., एचडीएफसी बैंक, टीसीएस और रिलायंस इंडस्ट्रीज में गिरावट के साथ बाजार नीचे आया। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 575.46 अंक यानी 0.97 प्रतिशत टूटकर 59,034.95 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान, यह 633.06 अंक यानी 1.06 प्रतिशत तक लुढ़क गया था। निवेशकों को आरबीआई की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक के नतीजे का इंतजार है। मौद्रिक नीति समीक्षा शुक्रवार को जारी की जाएगी।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 168.10 अंक यानी 0.94 प्रतिशत की गिरावट के साथ 17,639.55 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के तीस शेयरों में से टाइटन, एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक, विप्रो, टीसीएस, रिलायंस इंडस्ट्रीज लि. और पावरग्रिड सर्वाधिक नुकसान में रहे। शेयर बाजार में उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को 2,279.97 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे।

इसके उलट, एक्सिस बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईसीआईसीआई बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा और डा. रेड्डीज लाभ में रहने वाले शेयरों में शामिल हैं। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार ने कहा, ”बाजार में हाल की गिरावट का कारण अमेरिकी फेडरल रिजर्व का ब्याज दर को लेकर आक्रमक रुख है।”

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here